अनदेखी:दूसरी मंजिल पर बने वैक्सीनेशन सेंटर से बढ़ी परेशानी, संक्रमण का भी खतरा

अंता6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंता सामुदायिक चिकित्सालय में दूसरी मंजिल पर स्थापित कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर - Dainik Bhaskar
अंता सामुदायिक चिकित्सालय में दूसरी मंजिल पर स्थापित कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर
  • अंता अस्पताल में आखिरी छोर पर बने केंद्र तक जाने में लगाना पड़ता है पूरा चक्कर

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए राज्य सरकार कई कदम उठा रही है। वहीं कस्बे के अस्पताल में वैक्सीनेशन सेंटर ऐसी जगह बनाया गया है, जहां पहुंचना लोगों के लिए संक्रमण से भरा हुआ साबित हो रहा है। यह वैक्सीनेशन सेंटर अस्पताल की दूसरी मंजिल के आखिरी छोर पर स्थित है। यहां तक जाने के लिए बुजुर्गों को पूरे अस्पताल का चक्कर लगाना पड़ता है। जो आमजन के लिए परेशानी भरा साबित हो रहा है। अभी मौसमी बीमारियों के चलते अस्पताल मरीजों से भरा हुआ है। इस संक्रमण भरे माहौल को पार करते हुए वैक्सीनेश सेंटर तक पहुंचना लोगों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। वहीं दूसरी मंजिल पर स्थित वैक्सिनेशन सेंटर तक पहुंचने के लिए बुजुर्गों को एक बार सोचना ही पड़ता है। इसके बावजूद ना तो स्थानीय प्रशासन और न ही ब्लॉक सीएमएचओ कार्यालय इस और ध्यान दे रहा है। ताकि लोगों को सही जगह पर साफ-सुथरा वैक्सीनेशन सेंटर मिल सके।

आयुर्वेदिक अस्पताल का सेंटर कुछ दिन में कर दिया बंद कोरोना वैक्सीनेशन की शुरूआत में प्रशासन ने लोगों की सहूलियत को देखते हुए अस्पताल सहित आयुर्वेदिक अस्पताल में भी सेंटर स्थापित किया था। कुछ दिनों बाद ही प्रशासन की अनदेखी के चलते आयुर्वेदिक अस्पताल का सेंटर बंद कर दिया गया। जबकि यहां पर संक्रमण का खतरा कम है और लोगों को आने-जाने में भी आसानी रहती है।अन्य जगह बने वैक्सीनेशन सेंटरकस्बे के अस्पताल में अभी बड़ी संख्या में कई बीमारियों के मरीज उचार कराने जा रहे हैं। ऐसे माहौल में ही अस्पताल में वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित है। जिसके चलते यहां पर लोगों के संक्रमित होने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। इस वैक्सिनेशन सेंटर को अन्य जगह पर स्थापित किया जाना जरूरी हो गया है।

खबरें और भी हैं...