पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

असनावर थाने का मामला:महिलाओं को बेरहमी से पीटने वाले तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

असनावरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जांच रिपाेर्ट आने से पहले एसपी ने की कार्रवाई, भास्कर की खबर के बाद ग्रामीण उतरे थे सड़क पर

असनावर थाना क्षेत्र में 25 मार्च को जुआरियों को पकड़ने गईं पुलिस ने महिलाओं को बेरहमी से पीटने के मामले में मंगलवार को ।।तीन कांस्टेबलों को लाइन हाजिर किया गया है। इधर, एसपी ने इस मामले में कुछ बताने के बजाय सिर्फ इतना ही कहा कि इस मामले की जांच रिपाेर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। एएसआई राजेंद्र कुमार मीणा ने बताया कि कांस्टेबल रामकिशोर, अभय सिंह और सत्यप्रकाश चौधरी को मंगलवार को लाइन हाजिर करने के आदेश आए थे। इनको लाइन हाजिर कर दिया गया है। इनमें से अभय और सत्यप्रकाश शुक्रवार से ही अवकाश पर चल रहे हैं। दरअसल, असनावर कस्बे में गत 25 मार्च को जुआरियों को पुलिस पकड़ने गई थी। यहां जुआरी तो भाग गए थे, लेकिन पुलिस का गुस्सा महिलाओं पर बरस पड़ा। पुलिस ने यहां डंडों से गर्भवती सहित महिलाओं की पिटाई कर दी थी। इसके बाद महिलाएं जिला मुख्यालय पर अपनी पीड़ा लेकर आई थीं। इसके बाद भाजपा, भील समाज सहित अन्य लोगों ने भी यहां प्रदर्शन कर कार्रवाई करने की मांग की थी। अब जाकर यहां तीन कांस्टेबलों को लाइन हाजिर किया गया है। इधर, लोगों का कहना है कि लाइन हाजिर करना कोई सजा नहीं है। पुलिस के आला अधिकारियों ने कांस्टेबलों को कार्रवाई से बचाने के लिए यह रास्ता निकाला है, जबकि इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। इधर, विधायक सहित भाजपा ने पूरे मामले में फिर से पुलिस को घेरा है।

लाइन हाजिर के मामले को भी छिपाती रही एसपी कांस्टेबलों के लाइन हाजिर होने के मामले को भी मंगलवार को एसपी छिपाती रहीं। उन्होंने इस मामले को छुपाए रखा। पूछने पर भी खुलासा नहीं किया। वहीं पुलिस की पिटाई के बाद महिलाओं के दोनेां पैरों पर डंडों के निशान साफ दिखाई दे रहे हैं। महिलाओं का मेडिकल मुआयना भी करवाया गया है। इसी रिपोर्ट के आधार पर कांस्टेबलों पर कार्रवाई की गई है।

4 दिन में भी नहीं हो पाई जांच पूरी जबकि दो दिन में देनी थी रिपोर्टअसनावर में गर्भवती और महिलाओं से हुई मारपीट के मामले की जांच अकलेरा डीएसपी को दी गई है। उनको 26 मार्च को जांच दी गई थी और दो दिन में यानी, 28 मार्च तक इनको जांच रिपेार्ट सौंपनी थी, लेकिन इसके उलट चार दिन बाद भी जांच पूरी नहीं हो पाई है। इससे पुलिस की कार्यशैली पर कहीं न कहीं सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।

हम एसपी से फिर से बात करेंगे। न तो यह जांच रिपोर्ट दे रहे हैं और न ही कोई ठोस कार्रवाई कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन को गंभीरता से लेना चाहिए। गोविंद रानीपुरिया, विधायक^असनावर में महिलाओं को पीटने के मामले की जांच चल रही है। जांच आएगी तो हम आपको बता देंगे कि क्या कार्रवाई हुई है। - डॉ. किरण कंग सिद्दू, एसपी, झालावाड़

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें