पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कामों के लिए चक्कर लगा रहे लोग:अटरू नगरपालिका तो बनी, कर्मचारी नहीं लगाए, कामों के लिए चक्कर लगा रहे लोग

अटरू11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे में नगरपालिका का गठन करके जनप्रतिनिधियों ने भले ही वाह-वही लूट ली हो, लेकिन नगरपालिका के दुष्पपरिणाम अभी से ही आमजन के सामने आने लगे हैं। नगरपालिका बनने के बाद अटरू, खेड़लीगंज व रतनपुरा समेत तीनों ग्राम पंचायतों के सरपंचों के अधिकार छिनने के बाद अब आमजन की स्थिति खराब है। आनन-फानन में अधिकारियों ने नगरपालिका का कार्यालय तो ग्राम पंचायत अटरू में खोल दिया, लेकिन वहां पर अभी तक किसी कर्मचारी की नियुक्ति नहीं की है। वहीं पंचायत समिति के अधिकारियों ने भी हाथ खड़े कर दिए हैं। पंचायत समिति में सूचना चस्पा कर दी गई है कि तीनों पंचायतों के व्यक्ति आवास, शौचालय व सफाई के लिए नगरपालिका में संपर्क करें। वहीं छात्रों को आवश्यक प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराने के लिए भी भटकना पड़ रहा है।

सरपंचों के अधिकार छिने, कोर्ट में जाने की कर रहे तैयारी

खेड़लीगंज, रतनपुरा व अटरू तीनों ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने अब अदालत का दरवाजा खटखटाने का मन बना लिया है। खेड़लीगंज सरपंच रुखसार बानो के प्रतिनिधि कय्यूम ने बताया कि राज्य के अन्य सरपंच जिन्होंने कोर्ट की शरण ली है। उनसे बातचीत हो गई है और जैसे ही स्थगन आदेश मिलता है वह भी कोर्ट में जाएंगे। वहीं अटरू सरपंच सुशीला बाई ने कहा कि यदि न्यायालय से कुछ न्याय मिलने की उम्मीद दिखती है तो जरूर कारवाई करेगें तथा रतनपुरा सरपंच उग्रसेन मीणा ने कहा कि अगर स्टे मिलता है तो जरूर लेंगे। हम लोगों के साथ सरकार ने अन्याय किया है। जिसके खिलाफ आवाज जरूर उठाएंगे। गौरतलब है कि धोलपुर जिले की बसेड़ी तहसील के तिमासिया ग्राम पंचायत की सरपंच प्रीति गोयल ने सरकार के 19 जून के नोटिफिकेशन को कोर्ट में चुनौती दी थी। जिसके चलते हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए जवाब मांगा है। उसके बाद राज्य के सभी सरपंच सक्रिय हो गए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें