पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पौधरोपण:मानसून सीजन में जिले में रोपेंगे 2 लाख 80 हजार पौधे

बारां25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. मानसून सीजन के लिए वन विभाग की ओर से नर्सरी में तैयार किए गए पौधे। - Dainik Bhaskar
बारां. मानसून सीजन के लिए वन विभाग की ओर से नर्सरी में तैयार किए गए पौधे।
  • वन विभाग की ओर से 900 हैक्टेयर में पौधरोपण का लक्ष्य, जिले की 6 नर्सरियाें में पाैधे किए तैयार

जिले में मानसून सीजन के दौरान 2 लाख 80 हजार पाैधे राेपने का लक्ष्य है। इसके लिए वन विभाग ने जिले की 6 नर्सरियाें में पाैधे तैयार किए हैं। जिन्हें जिले के वन क्षेत्राें के 900 हैक्टेयर में राेपा जाएगा। इस साल 900 हैक्टेयर में 2 लाख 80 हजार पाैधे औैर करीब 1 लाख बीज लगाए जाएंगे।पिछले साल किए गए पाैधराेपण में भी सूख चुके पाैधाें में भी नए पाैधे लगाए जाएंगे। उपवन संरक्षक दीपक गुप्ता ने बताया कि बारां जिले के जंगलाें में कई ऐसी साइट्स हैं, जहां वन विकसित करने की पूरी गुंजाइश है। हालांकि ऊंचे पथरीली जगहाें पर इन्हें जीवित रखना चुनाैती है, लेकिन नियमित देखरेख पर इन्हें पनपाया जा सकता है। इसी के तहत हम चुरैल, जंगल जलेबी, रोंझ, बहेड़ा, कदंब, आंवला समेत 20 से ज्यादा प्रजातियाें के पाैधे तैयार किए हैं, जिन्हें जिले के वनक्षेत्राें में लगाएंगे। नर्सरियाें के जरिए आमजन काे उपलब्ध कराएंगे ताकि वे भी सुविधानुसार पौधे लगा सके।

जिले में रेंज अनुसार लगाए जाएंगे पौधे जिले के वनक्षेत्रो में पौधारोपण करने के लिए वन-विभाग कि ओर से क्षेत्र को चिन्हित किया गया है। इसके तहत जिले के सबसे सघन जंगल शाहाबाद क्षेत्र में सबसे ज्यादा पौधे रोपे जाएंगे। जिससे यहां पर हरियाली बनी रहे। उपवन संरक्षक गुप्ता ने बताया कि जिले के शाहाबाद-केलवाड़ा में 400 हैक्टेयर में पौधे रोपने का लक्ष्य लिया गया है। इसके बाद किशनगंज में 230 हैक्टेयर में, छीपाबड़ौद में 150 हैक्टेयर व छबड़ा में 120 हैक्टेयर क्षेत्र में पौधे रोपने का लक्ष्य लिया गया है। वहीं अंता, अटरू, मांगरोल व बारां में वन नही होने से यहां पर विभाग की ओर से कोई लक्ष्य तय नही किया गया है।

खबरें और भी हैं...