पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Baran
  • 20 Thousand Quintal Soybeans Reaching Daily In Agriculture Market, Business Worth 70 Crores Only This Month, Market Is Expected To Boom

पीले सोने की बंपर आवक:कृषि मंडी में रोजाना पहुंच रही 20 हजार क्विंटल सोयाबीन, इस महीने ही 70 करोड़ का कारोबार, बाजार में बूम आने की उम्मीद

बारां8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दीपावली सीजन पर बाजार में बढ़ी उम्मीदें, किसानों को मंडी में 3800 रुपए प्रति क्विंटल तक मिल रहा सोयाबीन का औसत भाव

जिला मुख्यालय स्थित कृषि उपज मंडी में इन दिनों सोयाबीन की बंपर आवक हो रही है। अक्टूबर में ही करीब दो लाख क्विंटल आवक रहने से 70 करोड़ की सोयाबीन की खरीद-फरोख्त हुई है। दीपावली सीजन में व्यापारी उम्मीद लगाए बैठे हैं। मंडी की खरीद-फरोख्त से ही मार्केट को बूम मिलता है। पिछले दो साल के मुकाबले आवक और भाव दोनों ही ज्यादा हैं।

जिले में मानसून सीजन में बारिश औसत से कम रही है। यानी करीब औसत के मुकाबले 22 फीसदी पानी कम बरसा है। तहसीलवार भी औसत बारिश में उतार-चढ़ाव है। जहां पर सामान्य और औसत बारिश हुई है, उन क्षेत्रों से खरीफ फसल की पैदावार सही रही है। कई जगह बारिश की कमी और अंतराल के कारण किसानों को नुकसान भी उठाना पड़ रहा है।

मंडी में आवक के अनुसार आकलन किया जाए तो पिछले दो साल के मुकाबले इस बार आवक ठीक है। पिछले साल अतिवृष्टि के कारण किसानों को व्यापक नुकसान हुआ था। इस बार फसल का एवरेज कम है। मंडी में इस सप्ताह साेमवार से बुधवार तक औसतन 20 हजार क्विंटल सोयाबीन पहुंच रही है। मंडी प्रशासन के अनुसार सोमवार को 20 हजार क्विंटल सोयाबीन की आवक हुई।

3800 से लेकर अधिकतम 4200 रुपए प्रति क्विंटल तक भाव रहे। वहीं औसत भाव 4 हजार रुपए क्विंटल तक रहे। वहीं मंगलवार को 19 हजार क्विंटल सोयाबीन की आवक हुई। इसके भाव 3650 से लेकर 4056 रुपए प्रति क्विंटल तक रहे। औसत भाव 3853 रुपए क्विंटल रहे। वहीं बुधवार को 20 हजार क्विंटल की आवक हुई। 3500 से लेकर अधिकतम 4008 रुपए क्विंटल तक भाव रहे। औसत भाव 3754 रुपए क्विंटल तक रहे।

इस साल ज्यादा है सोयाबीन की आवक : कृषि उपजमंडी के अनुसार साल 2019 में 15 से 30 सितंबर तक 7104 क्विंटल सोयाबीन की आवक हुई। इसमें नई सोयाबीन कुछ क्विंटल ही थी। वहीं 1 से 13 अक्टूबर तक 8641 क्विंटल सोयाबीन पहुंची थी। इस साल 15 से 30 सितंबर तक 47 हजार 744 क्विंटल सोयाबीन मंडी में पहुंची। वहीं 1 से 13 अक्टूबर तक 196591 क्विंटल सोयाबीन पहुंची है।
उड़द की आवक के साथ खरीद-फरोख्त भी ज्यादा
पिछले साल 15 से 30 सितंबर तक 692 क्विंटल उड़द पहुंचा था। वहीं 1 से 13 अक्टूबर तक 1456 क्विंटल उड़द ही पहुंचा था। इस साल 15 से 30 सितंबर तक 4338 क्विंटल उड़द पहुंचा है। वहीं 1 से 13 अक्टूबर तक 6475 क्विंटल उड़द मंडी में पहुंचा है। यानि पिछले साल के मुकाबले खरीफ फसलों की आवक मंडी में बढ़ रही है। वहीं इस साल 15 से 30 सितंबर तक 187 क्विंटल मक्का और 1 से 13 अक्टूबर तक 4176 क्विंटल मक्का नीलामी के लिए पहुंची है। इनके अलावा 15 से 30 सितंबर तक 225 क्विंटल धान और 1 से 13 अक्टूबर तक 2384 क्विंटल धान भी मंडी में पहुंची है। यानि पिछले साल के मुकाबले स्थिति सही है।
उम्मीद...त्योहारी सीजन में बढ़ेगा कारोबार
जिलेभर में त्यौहारी सीजन में कारोबारी गतिविधियां शुरू हो गई है। कृषि आधारित जिला होने से फसलों के आधार पर ही बाजार की गतिविधियां रहती है। मानसून के औसत से कम होने से फसलों का उत्पादन घटा है, लेकिन उपज पिछले साल के मुकाबले सही है। ऐसे में बाजार में व्यापारिक गतिविधियां बढ़ेगी।

खबरें और भी हैं...