कोरेाना का कहर:357 नए पॉजिटिव मिले, एक साल में 6594 चपेट में आए, इस अप्रैल में 3769 संक्रमित

बारां6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। अस्पताल में सैंपल लेते चिकित्साकर्मी। - Dainik Bhaskar
बारां. जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। अस्पताल में सैंपल लेते चिकित्साकर्मी।
  • चिंता की बात यह कि...अस्पतालों में बेड कम पड़ने लगे, इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे मरीज

जिले में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो चुका है। गुरुवार को जारी रिपोर्ट में रिकार्ड 357 रोगी मिले हैं। अकेले अप्रैल में ही संक्रमितों की संख्या 3769 पर पहुंच गई है। चिंताजनक बात यह है कि अस्पताल में भर्ती मरीजों की लगातार मृत्यु हो रही है। अस्पताल में मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड की सुविधा नहीं है। ऑक्सीजन और रेमडेसिवर इंजेक्शन की अपेक्षित सप्लाई नहीं होने से मरीजों और तीमारदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिले में हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं।चिकित्सा विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट में 357 नए संक्रमित सामने आए हैं।

इनमें अंता में 36, अटरू में 26, बारां ब्लॉक में 21, छबड़ा में 87, छीपाबड़ौद में 15, किशनगंज में 17, शाहाबाद में 65 और बारां शहर में 90 संक्रमित मिले हैं। बारां शहर से लेकर ग्रामीण, कस्बाई क्षेत्र तक हर दिन नए संक्रमित सामने आ रहे हैं। इनमें से कई लोग गंभीर हालत में पहुंच रहे हैं। जिलेभर में बारां जिला मुख्यालय पर जिला अस्पताल व दो प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती करने की सुविधा है। यहां भी बेड पूरे भर चुके हैं। नए भर्ती किए मरीज बैंच, जमीन पर लेटे हुए हैं। ऐसी परिस्थितियों से निबटने के लिए तत्काल ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाने, रेमडेसिवर इंजेक्शन की सप्लाई में बढ़ोतरी सहित अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। जिससे कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई को बेहतर ढ़ंग से लड़ा जा सके। व्यवस्थाएं, तो करनी होंगी, ताकि संक्रमण की चपेट में आए लोगों को समय पर समुचित उपचार मिल सके।

कोरोना संक्रमण से बिगड़ रहे हालात...ऐसे समझें

परेशानी...अस्पतालों में सभी बेड चल रहे फुल, ऑक्सीजन के लिए बढ़ी मशक्कत भर्ती मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के चलते अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड, कोविड आईसीयू के सभी करीब 140 बेड फुल हो चुके हैं। प्राइवेट अस्पतालो में भी सभी बेड फुल हो गए है। इसके चलते जिला अस्पताल ओर प्राइवेट अस्पतालों में पहुंच रहे ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले मरीजों को भर्ती होने के लिए भारी परेशानी हो रही है। कई मरीजों के तीमारदार मशक्कत कर बाहर से ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। अस्पताल में 4 जनों की मृत्यु हुई है। सरकारी रिपोर्ट में एक भी मृत्यु नहीं बताई गई है। वहीं शहर में दो मुक्तिधाम पर 10 जनों के अंतिम संस्कार की सूचना है।

राहत की बात...बढ़ते संक्रमण के बीच एक ही दिन में 116 मरीज स्वस्थ हुए कोराेना की दूसरी लहर में जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बेलगाम हो रही है। इस बीच लोग अस्पताल व होम आइसोलेशन में ठीक हो रहे हैं। गुरुवार को 116 जने रिकवर हुए हैं। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. राजेंद्र मीना ने बताया कि कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके बावजूद कई लोग गाइडलाइन की पालना नहीं कर रहे हैं। मास्क नहीं लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने आदि लापरवाही के कारण लोग संक्रमण की चपेट में आ रहे है। संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन ओर विभाग की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। आमजन को भी सतर्कता बरतनी चाहिए।

यह रही पॉजटिविटि रेट

माह सेंपल पाॅजिटिव रेट%अप्रैल 899 01 0.1मई 1825 41 2.2जून 2143 24 1.1जुलाई 7407 71 1.0अगस्त 10414 419 4.0सितंबर 6532 735 11.3अक्टूबर 3669 205 5.6नवंबर 2789 435 15.6दिसंबर 6429 550 8.6जनवरी 3966 146 3.7फरवरी 2773 30 1.1मार्च 6226 168 2.7अप्रैल 15729 3412 21.7कुल 70820 6237 8.81

खबरें और भी हैं...