पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कालाबाजारी:महामारी में कालाबाजारी करने वालों की अब वकील नहीं करेंगे पैरवी

बारां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अभिभाषक परिषद ने गुरुवार को सकारात्मक पहल की है। अगर जिले में किसी पर कालाबाजारी करते हुए पुलिस कार्रवाई होती है, तो कोई भी वकील उसकी पैरवी नहीं करेगा। जिला अभिभाषक परिषद बारां के अध्यक्ष एडवोकेट कमलेश दुबे ने बताया कि कोरोना महामारी के बीच कालाबाजारी भी आमजन के लिए मुसीबत बनी हुई है। लोगों ऑक्सीजन, दवाइयों, मेडिकल उपकरण से लेकर खाद्य सामग्री तक के लिए काला बाजारी की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

ऐसे में गुरुवार को बारां जिला अभिभाषक परिषद ने निर्णय लिया है कि जो कोई भी इस महामारी के काल में कालाबाजारी करेगा। उसके ऊपर प्रशासन की ओर से कोई मुकदमा दर्ज किया जाएगा, तो बारां का कोई भी अधिवक्ता उसमें उस मुलजिम की पैरवी नहीं करेगा। बारां के बाहर के अधिवक्ता भी अगर पैरवी करने आए तो उस अधिवक्ता का भी बहिष्कार किया जाएगा तथा उसे पैरवी नहीं करने दी जाएगी। कोई अधिवक्ता इस निर्णय के बाद ऐसे कालाबाजारी करने वाले के पक्ष में इस निर्णय के बावजूद भी पैरवी करेगा, तो उसे अभिभाषक परिषद की सदस्यता से निलंबित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...