• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Baran
  • Case Registered Against CI For Demanding Bribe, Accused Had Demanded Bribe In Lieu Of Not Increasing Remand, 40 Thousand Were Taken For Verification

CI के खिलाफ रिश्वत मांगने का केस दर्ज:आरोपी ने रिमांड नहीं बढ़ाने की एवज में मांगी थी घूस, सत्यापन में लिए थे 40 हजार

बारां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीआई अनिल कुमार पांडे (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
सीआई अनिल कुमार पांडे (फाइल फोटो)

एसीबी कोटा देहात ने बारां के अंता में पदस्थापित सीआई (पुलिस निरीक्षक) अनिल कुमार पांडे के खिलाफ हनीट्रैप मामले में झालावाड़ के खानपुर के परिवादी से 50 हजार रुपए की घूस मांगने के आरोप में मामला दर्ज किया है। दरअसल पुलिस ने जून 2021 में हनीट्रैप मामले में एक महिला और पुरुष को गिरफ्तार किया था। दोनों का कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से महिला को जेल भेज दिया गया था, जबकि आरोपी कैलाश मीणा को रिमांड पर भेजा गया था। सीआई ने आरोपी के भाई से कैलाश मीणा की रिमांड अवधि नहीं बढ़ाने, थाने में मारपीट नहीं करने और सुविधाएं देने के लिए रिश्वत मांगी थी।

एसीबी कोटा की एएसपी प्रेरणा शेखावत ने बताया कि 9 जुलाई 2021 को परिवादी राधाकिशन मीणा ने लिखित रिपोर्ट देकर बताया था कि उसके भाई कैलाश चंद को हनीट्रैप मामले में खानपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसकी जांच खानपुर थानाधिकारी अनिल कुमार पांडे कर रहे थे। उन्होंने दलाल मुरारीलाल मीणा के मार्फत कैलाश की रिमांड अवधि नहीं बढ़ाने और मारपीट नहीं करने की एवज में 1 लाख रुपए रिश्वत मांगी। आखिर में 90 हजार रुपए रिश्वत देना तय हुआ। सत्यापन के दौरान दलाल मुरारीलाल के जरिए अनिल कुमार पांडे ने 40 हजार रुपए रिश्वत ली थी। 10 जुलाई को सत्यापन के दौरान दलाल की ओर से 50 हजार रुपए रिश्वत की मांग की गई और थानाधिकारी ने सहमति प्रदान की। 11 जुलाई को आरोपी को शक होने से ट्रैप कार्रवाई नहीं हो पाई। एसीबी ने केस को जयपुर मुख्यालय भिजवाया था। बाद में थानाधिकारी का तबादला बारां के अंता हो गया।

खबरें और भी हैं...