सहमति:कोविड स्वास्थ्य सहायकों की मांगे मानी, ‌~46 लाख जारी

बारां21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पांच महीने से मानदेय नहीं मिलने से नाराज कोविड सहायक नगर परिषद पर दे रहे थे अनिश्चितकालीन धरना

शहर में बुधवार देर शाम को नगर परिषद के मुख्यद्वार पर धरने पर बैठे कोविड स्वास्थ्य सहायकों की नगर परिषद की ओर से वेतन जारी करने की मांग को गुरुवार को मान लिया गया। गुरुवार को नगर निकायों की कार्यशाला में पंहुचे कलेक्टर राजेंद्र विजय व डीएलबी निदेशक दीपक नंदी के समक्ष भी कोविड सहायकों की ओर से विरोध-प्रर्दशन किया गया था। इसके बाद कुछ देर के लिए कार्यशाला प्रभावित भी हुई थी। इसके बाद नगर परिषद पंहुचे विधायक पानाचंद मेघवाल व कलेक्टर विजय की ओर से काेविड स्वास्थ्य सहायकों के वेतन के लिए स्वास्थ्य विभाग को चैक जारी किया गया।

नगर परिषद की ओर से कोविड सहायकों के वेतन के लिए 46 लाख 87 हजार रुपए जारी किए गए। यह राशि केवल बारां शहर में लगे हुए कोविड सहायकों को वेतन जारी करने के लिए जारी की गई है। गौरतलब है कि कोविड सहायकों की ओर से धरने पर बैठने के बाद वैक्सीनेशन नहीं करने का भी निर्णय लिया गया था। जिससे शहर में वैक्सीनेशन प्रभावित होने की भी आशंका भी थी।कोविड स्वास्थय एसोसिएशन के संरक्षक योगेश नागर ने बताया कि पिछले 5 महीने से कोविड़ सहायको को नगर परिषद ने वेतन जारी नहीं किया था।

इसको लेकर कोविड सहायकों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया था। इसके बाद बुधवार देर शाम को कोविड सहायकों की ओर से नगर परिषद पर अनिश्चितकालीन धरना शुरु किया गया। कोविड़ सहायक बुधवार को पूरी रात व गुरुवार को सुबह बारिश के बाद भी धरने पर बैठे रहे। इसके बाद नगर निकायों की कार्यशाला में विरोध किया गया। इसके बाद विधायक व कलेक्टर से वार्ता के बाद 46 लाख 87 हजार रुपए कोविड़ सहायको के वेतन भुगतान को लेकर नगर परिषद की ओर से स्वास्थय विभाग को जारी किए गए। रुपए जारी होने के बाद कोविड़ सहायकों को राहत मिली है। इस दौरान जिलाध्यक्ष विजेंद्र कुशवाह, जिला उपाध्यक्ष मनवीर हाड़ा, जिला महासचिव विष्णु प्रजापति, बारां ब्लॉक अध्यक्ष योगेश कुमार समेत आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...