सरकारी आदेश:प्रतिनियुक्ति समाप्त...दफ्तरों में लगे शिक्षकाें को अब लौटना होगा स्कूल

बारांएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिक्षा विभाग ने अन्य विभागों में लगे कार्मिकों को दिए निर्देश, 21 दिसंबर तक ज्वाइन नहीं किया तो कटेगा वेतन

स्कूलों में पढ़ाने की जगह नगर निगम, परिषद, एसडीएम या अन्य कार्यालयों में बाबूगिरी कर रहे शिक्षक व कार्मिक वापस अपने काम पर लौटेंगे। इसको लेकर शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को आदेश जारी कर ऐसे शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति को तुरंत समाप्त कर दिया। साथ ही अन्य विभागों या कार्यालयों में प्रतिनियुक्त पर लगे हुए शिक्षकों व कार्मिकों को मूल स्थापन वाले स्कूलों में ज्वाइनिंग के निर्देश दिए हैं। शिक्षा विभाग के कई शिक्षक व कार्मिकों को संभाग, जिला व ब्लॉक स्तर पर अन्य विभागों में कार्य व्यवस्थार्थ लगाया हुआ है। इन कार्मिको व शिक्षकों की ओर से सेवाएं शिक्षा विभाग की जगह अन्य विभागों में दी जा रही हैं। जबकि इनका भुगतान शिक्षा विभाग के विभिन्न स्क्ूलों व कार्यालयों से आहरित की जा रही है।

निशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार 2009 के अनुसार दस वर्षीय जनगणना, आपदा प्रबंधन तथा पल्स पोलियो अभियान के लिए भी सेवाएं ली जाती है, लेकिन इन कार्यों के संपन्न होने के बावजूद शिक्षकों व कार्मिकों को उनके मूलस्थापन के लिए कार्यमुक्त नहीं किया जाता है। कई शिक्षक डेपुटेशन का काम पूरा होने के बाद भी मूल स्थान पर नहीं जाते। ऐसे में स्कूलों मे शिक्षकों की कमी के कारण बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होती है। परेशानी को देखते हुए हाल ही में विभाग के एसीएस पीके गोयल ने इसे गंभीरता से लेते हुए आदेश जारी किए हैं। आदेशों में कहा कि प्रतिनियुक्ति को तत्काल समाप्त किया जाता है। शिक्षकों ने अगर 21 दिसंबर तक अपने मूल स्थान पर जॉइन नहीं किया तो उनको दिसंबर का वेतन नहीं दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...