मुख्यमंत्री को लिखा पत्र:300 सिलेंडर ऑक्सीजन, 125 रेमडेसिविर इंजेक्शन प्रतिदिन दें सरकार: मंत्री भाया

बारां6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद भाया ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

जिले में कोरोना संक्रमण के बीच ऑक्सीजन और रेमेडेसिवर इंजेक्शन का कोटा बढ़ाने की मांग खान एवं गाेपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने मुख्यमंत्री से की है। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लिखे पत्र में मंत्री भाया ने कहा है कि बारां जिले को वर्तमान में 170 सिलेंडर ऑक्सीजन का आवंटन किया गया। जिसकी सप्लाई चित्तौड़गढ़ से होती है।सप्लाई में व्यवधान के कारण एक सप्ताह में दो बार आपात स्थिति हो चुकी है। 24 अप्रैल की रात्रि में आपात स्थिति बनी। वहीं गुरुवार सुबह भी आपात स्थिति बन गई। ऐसे में रात को ही मुख्यमंत्री कार्यालय व स्वास्थ्य मंत्री को फोन किया। जिससे तत्काल सिलेंडर की व्यवस्था हुई।

कोरोना महामारी का प्रभाव बढ़ता ही जा रहा है और गंभीर रूप से बीमार मरीज तेजी से बढ़ रहे है, जिन्हें ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है। बारां के मरीजों को कोटा में तो जगह मिल ही नहीं पा रही है। साथ ही बारां के समीप कोटा जिले के सांगाेद, इटावा व मध्यप्रदेश के सीमावर्ती जिले श्योपुर, शिवपुरी, गुना से भी मरीज बारां इलाज के लिए आ रहे हैं। ऐसे में बारां की ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता 250 से 300 प्रतिदिन हो गई।बारां जिले को 300 किमी दूर (लगभग 6-7 घंटे का परिवहन समय) चित्तौड़ से ऑक्सीजन आवंटित की गई है। जहां से स्थानीय जिले व संभाग की आवश्यकता पूर्ति के बाद बारां का नंबर आता है एवं दूरी ज्यादा होने के कारण सदैव अनियमितता व संशय की स्थिति बनी रहती है।

बारां जिले के लिए कोटा स्थित प्लांट से कम से कम 100 सिलेंडर प्रतिदिन की नियमित आपूर्ति के निर्देश प्रदान किए जाए। कोटा से चित्तौड़ पास पड़ता है।बारां के लिए 150 सिलेंडर प्रतिदिन चित्तौड़ से 100 सिलेंडर प्रतिदिन कोटा से व 50 सिलेंडर प्रतिदिन झालावाड़ से मिलने की व्यवस्था कायम करने के सभी संबंधित को निर्देश प्रदान किए जासएं। अन्यथा किसी भी दिन बारां में अकाल मौतें होने की स्थिति पैदा हो सकती है।वर्तमान में बारां जिले में रेमेडसिवर इंजेक्शन की सप्लाई मात्र 20 प्रतिदिन हो रही है, जबकि वर्तमान मांग 100 से 125 इंजेक्शन प्रतिदिन की है। बारां जिले को 125 इंजेक्शन प्रतिदिन तत्काल रूप से उपलब्ध कराए जाएं।

खबरें और भी हैं...