बेकाबू संक्रमण:आइसोलेशन व कोविड वार्ड फुल, मरीजों को जमीन पर लिटाकर दे रहे ऑक्सीजन

बारां6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. आइसोलेशन वार्ड मे बेड कम पड़े, मरीजों को जमीन पर लेटाकर कर रहे इलाज। - Dainik Bhaskar
बारां. आइसोलेशन वार्ड मे बेड कम पड़े, मरीजों को जमीन पर लेटाकर कर रहे इलाज।
  • 211 नए पॉजिटिव मिले, ऑक्सीजन की कमी वाले मरीज बढ़ने से सिलेंडर की डिमांड बढ़ी
  • चिंता: जिला अस्पताल में 6 जनों की हो चुकी मौतराहत : 89 मरीज स्वस्थ हुए

जिलेभर में कोरोना संक्रमण कहर ढहा रहा है। शहर से लेकर ग्रामीण व कस्बाई क्षेत्रों में नए संक्रमित सामने आ रहे हैं। कई मरीजों में ऑक्सीजन सेच्युरेशन लेवल कम होने की शिकायत सामने आ रही है। अस्पतालों मे ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले मरीज बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। जिला अस्पताल का आइसोलेशन वार्ड व कोविड आईसीयू के सभी बेड भर चुके हैं। अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर की डिमांड भी बढ़ गई है। डिमांड के मुकाबले ऑक्सीजन नहीं मिलने से परेशानी आ रही है। बुधवार को जिले मे 211 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिला अस्पताल में 6 जनो की मृत्यु हुई है। वही राहत की बात यह रही कि 89 संक्रमित मरीज स्वस्थ होकर रिकवर भी हुए हैं।

कम पड़ने लगे बेड... आइसाइलेशन के 130 व कोविड आईसीयू के सभी 12 बेड फुल जिला अस्पताल मे हर दिन बड़ी संख्या में मरीज ऑक्सीजन लेवल कम होने की शिकायत लेकर पहुच रहे हैं। अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के करीब 130 व कोविड आईसीयू के सभी 12 बेड फुल चल रहे हैं। करीब 10 मरीजों को बेड नहीं मिलने पर जमीन पर लिटाकर ऑक्सीजन और इलाज देना पड़ रहा है।कहां कितने मिले संक्रमित: डिप्टी सीएमएचओ डॉ. राजेंद्र मीना ने बताया की जिले में बुधवार को कुल 211 नए संक्रमित मिले हैं। इनमें बारां शहर से 58, बारां ब्लॉक से 17, अंता से 15, अटरू से 3, छबड़ा में 35, छीपाबड़ौद में 19, किशनगंज में 27, शाहाबाद में 37 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। सूत्रों ने बताया कि जिला अस्पताल मे बुधवार को 6 जनों की मृत्यु हुई है।

वहीं लंका कॉलोनी मुक्तिधाम पर 8 और डोल तालाब के समीप मुक्तिधाम पर 5 जनों का अंतिम संस्कार हुआ है।यह रखें विशेष ध्यान...सेच्युरेशन 94 से कम होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेंडॉ. मीना ने बताया कि जिले में संक्रमितों का आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है। संक्रमण से बचाव के लिए आमजन को सतर्कता बरतनी चाहिए। हमेशा मास्क लगाकर रहे, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करें व बार बार साबुन या सेनेटाइजर से हाथों को धोएं। कोई भी लक्षण होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। होम आइसोलेशन के दौरान सेच्युरेशन का ध्यान रखें। सेच्युरेशन लेवल 94 से कम होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

खबरें और भी हैं...