व्यवस्था / कोरोना संकट के दौर में पेयजल व्यवस्था सुचारू रखें: कलेक्टर

Keep drinking water system smooth in the time of Corona crisis: Collector
X
Keep drinking water system smooth in the time of Corona crisis: Collector

  • वॉर रूम की बैठक में अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 05:00 AM IST

बारां. कोरोनावायरस को लेकर मंगलवार काे मिनी सचिवालय सभागार में दैनिक वॉर रूम की बैठक कलेक्टर इंद्रसिंह राव की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कलेक्टर राव ने कहा कि कोरोना संकट के दौर में आमजन को पेयजल संबंधी समस्या नहीं होनी चाहिए। इसलिए पेयजल आपूर्ति को निर्बाध रूप से सुनिश्चित किया जाना चाहिए। 
न्होंने कहा कि बीते कुछ दिनों ने बारां शहर में तेल फैक्ट्री, लंका काॅलोनी सहित कुछ क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति की समस्या आ रही है, जिससे आमजन को परेशानी हो रही है। इसके लिए तुरंत राहत के लिए संबंधी क्षेत्रों में टैंकर के माध्यम से पानी की आपूर्ति की जानी चाहिए। साथ ही उन्होंने बिजली ट्रिपिंग की समस्या के कारण पंप नहीं चलने की समस्या के समाधान के लिए स्टेबलाइजर लगाने के निर्देश भी प्रदान किए। वहीं एसपी डॉ. रवि सबरवाल ने कहा कि सभी को यह ध्यान रखना जरूरी है कि जिले में धारा 144 की पालना के तहत 5 से अधिक लोग एकत्र न हो, सोशल डिस्टेंस की पालना करें, धार्मिक गतिविधियां निषिद्ध हैं।

शाम 7 बजे बाद किसी तरह का मूवमेंट नहीं हो, मास्क लगाना अनिवार्य है, दुकानदार व खरीदार दोनों के लिए मास्क लगाना जरूरी है। पान, गुटखा, शराब का सेवन सार्वजनिक स्थल पर करने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बैठक में सीईओ जिला परिषद बृजमोहन बैरवा ने बताया कि मनरेगा योजना के तहत जिले में एक लाख 24 हजार श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। शीघ्र ही डेढ़ लाख श्रमिकों का लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों के संबंध में भी जानकारी प्रदान की।

एडीएम मोहम्मद अबूबक्र ने बताया कि जिले से अधिकतर श्रमिकों को संबंधित राज्यों के लिए भिजवाया जा चुका है। जो कुछ श्रमिक बचे हैं उनको आने वाले दिनों में कोटा से रेल के माध्यम से भिजवाने की व्यवस्था की जाएगी।
मोक्ष कलश स्पेशल बस सेवा शुरू

 रोडवेज प्रबंधक ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से मोक्ष कलश स्पेशल निशुल्क बस सेवा प्रारंभ की गई है। जिसके तहत परिवार के दो व्यक्ति अस्थि कलश लेकर विसर्जन के लिए निशुल्क जा सकते हैं। सीएमएचओ डॉ. संपतराज नागर ने प्रवासियों की टेस्टिंग, स्क्रीनिंग के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि कोविड केयर सेंटर स्थापित करने संबंधी कार्य पूरा कर लिया है। इस अवसर पर भू अवाप्ति अधिकारी हीरालाल वर्मा, कोषाधिकारी धीरज कुमार सोनी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
महासंघ ने कहा- अस्थि मोक्ष रथ का कदम स्वागत योग्य

देशभर में चले लंबे लाॅकडाउन के कारण सैकड़ों की संख्या में अंत्येष्टि के बाद अस्थि विसर्जन हरिद्वार की गंगा में करने के इंतजार करने वालों के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के प्रत्येक जिला मुख्यालय से हरिद्वार के लिए अस्थि विसर्जन का जो निर्णय लिया है उसका व्यापार महासंघ ने स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री के इस निर्णय को मानवीय बताया है।

महासंघ अध्यक्ष ललितमोेहन खंडेलवाल, संरक्षक देवकीनंदन बंसल, पवन डोलिया, अशोक बत्रा, कमलेश विजय, यशभानुकुमार जैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेंद्र बत्रा, महामंत्री प्रदीप जैन, योगेश कुमरा, कोषाध्यक्ष जिनेंद्र जैन, धर्मादा अध्यक्ष विमल बंसल ने राज्य सरकार के इस निर्णय की प्रशंसा करते हुए मुख्यमंत्री काे धन्यवाद दिया है। महासंघ पदाधिकारियों ने बताया कि शहर सहित जिले में सैकडों की संख्या में ऐसे परिवार जो गंगा में दिवंगत परिजनों की अस्थियां प्रवाहित करने के लिए इंतजार कर रहे थे।

लंबे लाॅकडाउन के कारण ऐसे परिवार हरिद्वार नहीं पहुंच पा रहे थे। मुख्यमंत्री की एक अस्थि कलश के साथ दो परिजन निशुल्क हरिद्वार ले जाने की घोषणा स्वागत योग्य है। ऐसे कई परिवार अब दिवंगत परिजनों की अस्थियों को राज्य सरकार की निशुल्क व्यवस्था से गंगा में प्रवाहित कर सकेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना