पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आस्था पर भी लॉकडाउन:सीताबाड़ी का लक्ष्मण मंदिर बंद, द्वार पर ही पूजा कर शीश नवा रहे भक्त

सीताबाड़ी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीताबाड़ी में 541 साल में पहली बार बड़पूजनी अमावस्या पर बंद रहा लक्ष्मण कुंड मंदिर

सीताबाड़ी में भगवान श्रीलक्ष्मणजी महाराज का मंदिर 541 साल पुराने इतिहास में पहली बार हुआ कोरोना महामारी के चलते बड़ पूजनीय अमावस्या पर बंद रहा। मगर भगवान के प्रति श्रद्धालुओं की आस्था इतनी अटूट है कि लोग दूरदराज से यहां आकर मंदिर के मुख्य द्वार पर ही दीपक व अगरबत्ती लगाते हुए प्रसाद चढ़ाकर ईश्वर से इस महामारी को दूर भगाने की प्रार्थना कर रहे हैं।
इसलिए अमावस्या पर है पूजा करने का महत्व
वैसे तो 12 माह में 12 अमावस्या आती हैं परंतु सबसे बड़ी अमावस्या ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष पर पड़ने वाली बड़ पूजनीय अमावस्या को माना गया है। लक्ष्मण मंदिर के महंत राजेंद्र मालवीय ने बताया कि अमावस्या पर सूर्यवंशी एवं पूर्णिमा पर चंद्रवंशीयों के पूजन को श्रेष्ठ माना गया है। भगवान श्रीराम व लक्ष्मण जी महाराज सूर्यवंशी हैं। इससे बड़ पूजनीय अमावस्या पर हजारों श्रद्धालु सीताबाड़ी लक्ष्मण मंदिर में स्नान व पूजा अर्चना के लिए पहुंचते हैं। भगवान श्रीकृष्ण चंद्रवंशी हैं जिनका पूजन पूर्णिमा पर श्रेष्ठ माना गया है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें