अदालतों में ठप रहा कामकाज:वकीलों की हड़ताल से अदालतों में ठप रहा कामकाज, 700 केस हुए प्रभावित

बारां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. मांगरोल पुलिस की ओर से अधिवक्ता की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को मिनी सचिवालय पर प्रदर्शन करते अभिभाषक परिषद के सदस्य। - Dainik Bhaskar
बारां. मांगरोल पुलिस की ओर से अधिवक्ता की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को मिनी सचिवालय पर प्रदर्शन करते अभिभाषक परिषद के सदस्य।
  • वकील की गिरफ्तारी का विरोध, मांगरोल सीआई को निलंबित करने की उठाई मांग

मांगरोल पुलिस की ओर से अधिवक्ता की गिरफ्तारी को लेकर अभिभाषक परिषद लगातार विरोध कर रहा है। मांगरोल सीआई रामविलास मीणा पर मनमानी करने व अवैध गिरफ्तारी करने का आरोप लगाते हुए निलंबन की मांग काे लेकर अभिभाषक परिषद ने बुधवार अदालत परिसर में प्रदर्शन किया। बारां के साथ ही कोटा, बूंदी व झालावाड़ के वकील बुधवार को हड़ताल पर रहे। हड़ताल के चलते संभाग की 28 अभिभाषक परिषद से जुड़े करीब साढ़े 5 हजार वकीलों ने न्यायालय में लंबित प्रकरणों पर पैरवी नहीं की। न्यायालय परिसर में टाइपिंग व जेरोक्स का काम समेत न्यायिक कामकाज बंद रखा गया।

अदालत में वकीलों की हड़ताल के चलते कामकाज नहीं किया। वकील अदालत परिसर में एकत्र हुए और अपनी मांगाें को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद वकीलों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इसमें वकीलों की ओर से मांग की गई कि मांगरोल सीआई रामविलास मीणा को जल्द ही निलंबित किया जाए। निलंबन नहीं होने तक वकीलों की ओर से आंदोलन जारी रहेगा। प्रदर्शन को देखते हुए कलेक्ट्रेट परिसर में पुलिस की ओर से भी जाब्ता तैनात किया गया। इस दौरान कोतवाली सीआई मांगेलाल यादव जाब्ते के साथ मौजूद रहे।

दी चेतावनी...मांग नहीं मानी, तो प्रदेश स्तर पर करेंगे आंदोलन अभिभाषक परिषद के अध्यक्ष कमलेश दुबे ने बताया कि हाड़ौती में गत दिनों कुछ ऐसी घटनाएं हुई है, जिससे पुलिस का दोहरा चरित्र सामने आया है। जिले के मांगरोल में वकील के खिलाफ झूठा प्रकरण दर्ज करके गिरफ्तार किया गया। मामले को लेकर आईजी को ज्ञापन देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके विरोध में हाड़ौती संभाग के करीब साढ़े 5 हजार वकीलों ने सांकेतिक रूप से काम बंद रखा है। यदि मांगों पर जल्द कार्रवाई नहीं की गई, तो आंदोलन को प्रदेशस्तर तक ले जाया जाएगा।

आज से अदालत में पुलिस से नहीं करेंगे जिरह जिले में वकीलों के हड़ताल पर रहने से अदालतों में केसों का कामकाज प्रभावित हुआ है। अभिभाषक परिषद के अध्यक्ष दुबे ने बताया कि जिलेभर समेत पूरे संभाग में बुधवार को वकीलों ने हडताल की। बारां जिले में वकीलों के हड़ताल पर रहने के कारण करीब 700 केसों का कामकाज प्रभावित हुआ है। मांगरोल में वकील की गिरफ्तारी के विरोध में गुरूवार से वकील अदालत में पुलिस से जिरह नहीं करेंगे। अभिभाषक परिषद के अध्यक्ष दुबे ने बताया कि जिले में वकीलों की ओर से गुरूवार से अदालत में पुलिस से जिरह नहीं किया जाएगा। वहीं आगे की रणनीति को लेकर गुरूवार शाम को कोटा संभाग के चारों जिलों के अभिभाषक परिषद के अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की जाएगी। जिसमें आगामी समय में आंदोलन को लेकर रूपरेखा तय की जाएगी।

खबरें और भी हैं...