शीतलहर से बढ़ी गलन:मावठ और शीतलहर से बढ़ी गलन और ठिठुरन ने किया बेहाल बारां में सर्वाधिक 10 एमएम बारिश, आज भी बारिश के आसार

बारां16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. जिलेभर में बुधवार शाम से शुरू हुई मावठ का दौर गुरुवार को भी जारी रहा। शहर में दिनभर रुक-रुककर रिमझिम बारिश होती रही। - Dainik Bhaskar
बारां. जिलेभर में बुधवार शाम से शुरू हुई मावठ का दौर गुरुवार को भी जारी रहा। शहर में दिनभर रुक-रुककर रिमझिम बारिश होती रही।
  • कृषि उपनिदेशक बोले अभी मावठ से फसलों में नुकसान नहीं, डॉक्टरों की सलाह बदलते मौसम में रखे सेहत का ध्यान

जिलेभर में गुरुवार को मावठ गिरने से वातावरण में ठिठुरन बढ़ गई। रुक-रुककर दिनभर रिमझिम का दौर चलते लोग परेशान हुए। सुबह 8 बजे तक बीते 24 घंटों में बारां में सर्वाधिक 10 एमएम बारिश दर्ज की गई। शाहाबाद में 8 अौर छबड़ा में 7 एमएम बारिश हुई। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार इस बारिश से फसलों में नुकसान नहीं है। लगातार मौसम ऐसा बना रहता है, तो फसलों का उत्पादन प्रभावित होने की आशंका रहेगी।जिले में गुरुवार रात एक बजे से बारिश का दौर शुरू हो गया।

बारां शहर में कभी तेज तो कभी मध्यम बारिश हुई। दिनभर रुक-रुककर रिमझिम का दौर चलता रहा। इससे अधिकांश लोग घरों पर ही रुके रहे। जरुरी काम से भी लोग छाता लेकर और रेनकोट पहनकर निकले। बारिश तेज होने से सड़कों से भी पानी बह निकला। दिनभर की बारिश के बीच शीतलहर, गलन आैर ठिठुरन से लोग बेहाल रहे। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को बारिश के आसार बने हुए हैं। अधिकतम तापमान 19 और न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जिले में कहां-कितनी बारिशमावठ का सिलसिला जिलेभर में जारी है। सर्वाधिक बारां में 10 एमएम बारिश दर्ज हुई है। माैसम विभाग के अनुसार गुरुवार सुबह 8 बजे तक बीते 24 घंटों में बारां 10 एमएम, शाहाबाद 8 , छबड़ा 7, अंता 6, अटरू और किशनगंज में 5-5, छीपाबड़ौद व मांगरोल में 1-1 एमएम बारिश रिकार्ड हुई है।मावठ से अभी नुकसान नहींकृषि विभाग उपनिदेशक अतीश कुमार शर्मा ने बताया कि नुकसान वाली बात अभी नहीं है। जिले में कहीं ओलावृष्टि भी नहीं हुई है। गेहूं, लहसुन, सरसों आदि फसलों में बारिश से नुकसान नहीं है। आगामी समय में इसी प्रकार मौसम लगातार बना रहा, तो नुकसान की आशंका रहेगी।

खबरें और भी हैं...