शर्मनाक वारदात:हाईवे पर दंपती काे राेककर बंधक बनाया, फिर महिला से गैंगरेप

बारां9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बारां के छजावा बावड़ी के समीप शनिवार रात की घटना, महिला की साड़ी से बदमाशाें ने उसके पति के हाथ-पैर व मुंह बांधा

नेशनल हाइवे-90 पर शनिवार रात छजावा बावड़ी के समीप दाे बाइक पर सवार हाेकर आए बदमाशाें ने एक दंपती काे रोककर बंधक बना दिया। बाद में आराेपियाें ने महिला के साथ गैंगरेप किया। महिला अपनी आठ साल की छाेटी बहन व पति के साथ कामखेड़ा बालाजी के दर्शन कर अपने गांव लाैट रही थी। इस दाैरान एक बुजुर्ग आराेपी ने उसकी छाेटी बहन काे सड़क पर ही राेक लिया। उसे सड़क पर राेता देखकर एक ट्रक चालक ने उससे पूछताछ की ताे मामले का खुलासा हाे पाया। इस मामले में महिला के पूर्व पति के भाई सहित 4 से 5 आरोपी बताए गए हैं। इधर, घटना की जानकारी मिलते ही रात को ही एसपी विनीत कुमार बंसल, एएसपी विजय स्वर्णकार ने मौका मुआयना किया। मामले के जल्द खुलासे के लिए जांच शुरू कर दी है। इस मामले में पुलिस ने कुछ संदिग्धों को पकड़ कर पूछताछ शुरू की है।पुलिस के अनुसार पीड़िता ने रिपोर्ट में बताया है कि वह पति और आठ वर्षीया बहन के साथ कामखेड़ा बालाजी के दर्शन करने बाइक से गई थी। वहां से वापस लौटते-लौटते शाम हो गई। बाइक से नेशनल हाइवे-90 से होते हुए गांव जा रहे थे। तभी दो बाइकों पर सवार लोगों ने पीछा करना शुरू कर दिया। रात करीब 10 बजे छजावा बावड़ी के समीप सुनसान इलाका देखकर बाइक के आगे उन्होंने अपनी बाइक लगा दी। एक बुजुर्ग ने छोटी बहन को सड़क पर ही रोक लिया, जबकि पति-पत्नी को धमकाते हुए खेतों की तरफ ले गए। वहां धमकाते हुए बदमाशाें ने महिला की साड़ी उतरवा ली। साड़ी से पति के हाथ-पैर और मुंह बांध दिया। बदमाशाें ने पीड़िता के हाथ भी साफी से बांध दिए। इसके बाद 3 से 4 लोगों ने महिला के साथ बारी-बारी से ज्यादती की। जब पीड़िता बदहवास हाे गई ताे आरोपी उसे वहीं पटककर सड़क पर पहुंचे गए। वहां से बुजुर्ग सहित सभी आरोपी दोनों बाइकों पर बैठकर फरार हो गए। इधर, अंधेरे में सड़क पर खड़ी बालिका उसके बहन और जीजा के नहीं आने से जोर-जोर से रोने लगी और वहां से गुजर रहे वाहनों को रुकने की गुहार करती रही। बालिका काे सड़क पर अकेला देखकर एक ट्रक चालक ट्रक रोककर उससे रोने का कारण पूछा, तो उसने घटनाक्रम बताया। किसी अनहाेनी का अंदेशा होने पर ट्रक चालक ने हाईवे से गुजर रहे दूसरे वाहन चालकों को भी रोका। कुछ लोगों के एकत्रित होने पर पूरे मामले की सूचना पुलिस को दी गई। वहां मौजूद लोग बालिका के साथ उसकी बहन व जीजा की तलाश में खेतों में जाकर अावाज लगाने लगे। तब तक पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। आसपास खेतों में सघनता से तलाश करने पर एक खेत में महिला बदहवास हालत में पड़ी थी, वहीं उसके पति के हाथ-पैर व मुंह भी बंधा हुआ था। पुलिस ने तुरंत ही महिला को एंबुलेंस से अस्पताल में भर्ती कराया। घटनाक्रम को लेकर पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर पुलिस ने यह मामला भादंसं. की धारा 341, 342, 347, 323, 376 डी में दर्ज कर जांच शुरू की है।पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी जाब्ते के साथ माैके पर पहुंचे। पुलिस काे पीड़िता माैके पर बदहवास हालत में मिली। इस पर उसे एंबुलेंस से तुरंत बारां के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डाॅक्टर्स की निगरानी में उसका उपचार चल रहा है। पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के पति से घटना की जानकारी ली। इधर, पुलिस ने पीड़िता की ओर से दी गई रिपाेर्ट में आराेपियाें के जाे नाम बताए हैं, पुलिस उनकी तलाश में जुट गई है।

रात को ही एसपी और एएसपी ने किया मौका मुआयना

घटनाक्रम को लेकर जैसे ही जानकारी मिली, तुंरत पुलिस हरकत में आ गई। जिले के एक ग्रामीण थाने से एसएचओ सहित पुलिस जाप्ता मौके पर पहुंच गया। बारां से एसपी विनीत कुमार बंसल व एएसपी विजय स्वर्णकार भी मौके पर पहुंच गए। टीम के साथ मौका मुआयना किया गया। वारदात के जल्द खुलासे के लिए टीम गठित की गई। साथ ही मामले में कुछ संदिग्धों को पुलिस ने राउंडअप भी किया है।^पीड़िता की रिपोर्ट पर पुलिस ने बंधक बनाने, गैंगरेप सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। मामले में पीड़िता के पूर्व पति का भाई सहित कुछ आरोपी नामजद भी हैं। पुलिस मामले में कुछ संदिग्धों को राउंडअप भी किया है। पूरे मामले में गंभीरता से जांच की जा रही है।- विनीत कुमार बंसल, एसपी

खबरें और भी हैं...