पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश - महंगाई का विरोध:चूल्हे पर रोटी बनाकर किया महंगाई का विरोध

बारांएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. शहर के चारमूर्ति चाैराहा स्थित पेट्रोल पंप के सामने चूल्हे पर खाना बनाकर महंगाई का विराेध करती महिला कांग्रेस की कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
बारां. शहर के चारमूर्ति चाैराहा स्थित पेट्रोल पंप के सामने चूल्हे पर खाना बनाकर महंगाई का विराेध करती महिला कांग्रेस की कार्यकर्ता।
  • महिला व युवक कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में जिला मुख्यालय व छीपाबड़ौद में किया प्रदर्शन

पेट्राेल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर युवक कांग्रेस और महिला कांग्रेस ने शहर के चारमूर्ति चाैराहा स्थित पेट्रोल पंप पर विरोध प्रदर्शन किया। महिलाअाें ने बढ़ी हुई कीमतों काे वापस लेने की केंद्र सरकार से मांग की।महिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रियंका नंदवाना ने बताया कि विधायक पानाचंद मेघवाल, समाज सेविका उर्मिला जैन भाया, संगठन महामंत्री कैलाश जैन, नगर परिषद सभापति ज्योति पारस की मौजूदगी में महिलाओं ने चूल्हे पर खाना बनाकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि केंद्र की निरंकुश सरकार ने कीमतों में वृद्धि कर कोरोना महामारी में आमजन की कमर तोड़ दी है।

केंद्र सरकार बढ़ी हुई कीमतों को वापस नहीं लेती है तो कांग्रेस कार्यकर्ता गांव-गांव व ढाणी-ढाणी जाकर जन जागरूकता अभियान चलाएगी। विधायक मेघवाल ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार ने आमजन का जीवन कार्पोरेटिव कंपनियों के हवाले कर दिया है। समाज सेविका उर्मिला जैन भाया ने कहा कि आम पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस हित अन्य खाद्य पदार्थों के तेजी से बढ़ते दाम आमजन को गहरी खाई की ओर धकेल रहे हैं। युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष शरद शर्मा ने कहा की जब भाजपा विपक्ष में थी और कच्चा तेल 145 डाॅलर प्रति बेरल था तब डीजल, पेट्रोल के दाम 60 से 70 रुपए प्रति लीटर के बीच थे। अब आज कच्चे तेल का बाजार मूल्य 40 डॉलर प्रति बेरल से भी कम है, लेकिन आमजन को पेट्रोल व डीजल सौ रुपए से भी अधिक कीमत में दिया जा रहा है। एक तरफ सरकार व कई अर्थशास्त्री इस बात को मानते हैं कि कोरोना काल में अर्थव्यवस्था का पहिया जाम है।

केंद्र सरकार आमजन का शोषण करने में लगी हुई है।छीपाबड़ौद में भी किया धरना प्रदर्शन, दिया ज्ञापनछीपाबड़ौद| ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की महिला पदाधिकारियों एवं युवाओं ने बुधवार को कस्बे में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रदर्शन कर तहसीलदार को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की कीमतों में हो रही वृद्धि, आर्थिक मंदी, बढ़ती बेरोजगारी और सभी जरूरी वस्तुओं की बढ़ती कीमतों से आमजन परेशान हैं। प्रदर्शन करने वालों में ब्लॉक अध्यक्ष परमानंद मीणा, बाबूलाल टाटू, मूलचंद शर्मा, नगर अध्यक्ष शब्बीर मंसूरी, महामंत्री रफीका अब्बासी, यूथ गोलू मीणा, सरपंच प्रतिनिधि बृजराज, सरपंच भंवरलाल मेहता, नरेंद्र गुर्जर, रामबाबू भील, इकराम भाई, रिंकू गुर्जर, जसराज मीणा, सुरेश मीणा, सोभागमल नागर, सुरेश किराड़, नरेंद्र नागर सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

संयुक्त किसान मोर्चे का धरना-प्रदर्शन आज

बारां| संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन अराजनीतिक (टिकेत) के जिलाध्यक्ष बलवंतसिंह मीणा के नेतृत्व में गुरुवार सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक चारमूर्ति चौराहा पर महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। महासचिव गुरकीरतसिंह खालसा ने बताया कि प्रदर्शन में किसान यूनियन के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। वहीं हिंदू जागरण मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश खुराना भी मौजूद रहेंगे। दोपहर 12 बजे से 8 मिनट तक गाड़ियों के हाॅर्न बजाकर महंगाई के खिलाफ केंद्र व राज्य सरकार को जागृत किया जाएगा। इसके लिए कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई है।

खबरें और भी हैं...