पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मानसून के साइड इफेक्ट:पार्वती पिकअप वियर का बांध छलका, नदी में बहाव के चलते 20वें दिन भी नहीं खुला जलवाड़ा-अटरू मार्ग

बारां10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मध्यप्रदेश में बारिश से पार्वती नदी में लगातार बना हुआ है बहाव, 20 दिन से पानी में डूबी है पुलिया
  • बांध लबालब... रपट पर दो सप्ताह से चल रही है डेढ़ फीट की चादर, 20 दिन से पुलिया भी डू बी

क्षेत्र के किशनपुरा गांव के समीप स्थित पार्वती पिकअप वियर का बांध शुरुआती मानसून की बारिश में ही छलक उठा। मध्यप्रदेश के दूर-दराज के इलाकों में जोरदार बारिश होने से किशनपुरा डैम में पानी की आवक बनी हुई है।  लबालब भरा होने से डैम की रपट पर करीब एक से डेढ़ फीट की चादर दो सप्ताह से चल रही है। डैम के नीचे बनी पार्वती नदी की रियासतकालीन पुलिया करीब 20 दिन से पानी में डूबी हुई है। इससे जलवाड़ा-अटरू रोड अवरुद्ध है।  अटरू सहित छबड़ा, छीपाबडौद, कवाई, सालपुरा, फूलबड़ौद आदि गांवों में जाने के लिए कस्बे सहित आसपास के दर्जनों गांवों के लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। वाहन चालकों को पिपलोद से गोविंदपुरा होते हुए अटरू व अन्य स्थानों पर जाना पड़ रहा है। पुलिया का निर्माण सन 2008 में ग्राम पंचायत छत्रगंज के तत्कालीन सरपंच मुकुट बिहारी मीणा ने जिला परिषद के माध्यम से डांग योजना के तहत करवाया था। पुलिया करीब एक दशक से जर्जर हालत में है।

किशनपुरा व बालापुरा गांव बन जाते हैं टापू
बारिश में दोनों छोरों पर पार्वती नदी, सुखार नदी व बरनी नदी में उफान आने से क्षेत्र के किशनपुरा व बालापुरा गांव टापू बन जाते हैं। ऐसे में गांव के बाशिंदे न कस्बे में आ पाते हैं, न ही अटरू जा पाते हैं। बारिश में यदि गांव में कोई बीमार हो जाए तो मरीज की जान पर बन आती है। उसे प्राथमिक उपचार मिलना भी मुश्किल हो जाता है।

9 की जगह अब 62 किमी का करना पड़ रहा सफर
किशनगंज उपखंड के गांवों के लोग अटरू उपखंड के गांवों में जाने के लिए जलवाड़ा-अटरू शॉर्टकट रास्ते का उपयोग करते हैं। इसमें जलवाड़ा मुख्यालय से मात्र 9 किमी का ही सफर तय करना पड़ता है। हर वर्ष बारिश में पुलिया पर पानी होने पर लोगों को 9 की जगह किशनगंज होते बारां जाने के लिए 62 किमी का सफर तय करना पड़ता है।

दिनभर चला धूप-छांव का दौर, उमस ने किया परेशान

बारां| जिलेभर में बुधवार को मौसम का मिला-जुला असर देखने को मिला। मंगलवार को हुई बरसात के बाद लोगों को उमस से थोड़ी राहत मिली। बुधवार को दिनभर धूप-छांव का दौर चलता रहा। बादल बिन बरसे ही निकल गए। उमस के कारण लोग दिनभर पसीने से परेशान रहे। बुधवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री और न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन-चार दिन तक जिले में कुछ स्थानों पर हल्की आैर मध्यम बरसात होने की संभावना है। मौसम विभाग ने जिले में कुछ जगह मेघ गर्जना के साथ बरसात होने की चेतावनी दी है। मानसून के मद्देनजर जिले में सिविल डिफेंस की टीम काे अलर्ट पर रखा है। बुधवार को जिले में सबसे ज्यादा छीपाबड़ौद में 11 मिमी बरसात व सबसे कम बरसात छबड़ा में 1 मिमी दर्ज की गई। बारां तहसील में 9 मिमी, मांगरोल में 7 मिमी, अटरू में 2 मिमी और शाहाबाद में 7 मिमी बरसात दर्ज की गई। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें