झरनों की तस्वीर पहली बार सिर्फ भास्कर में:150 फीट से गिर रहे दो झरनों की तस्वीर पहली बार सिर्फ भास्कर में

बारांएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक घंटे की बारिश में ही चल पड़ा सूखा खोह का डबल झरना

जिला मुख्यालय से 80 किमी दूर शाहाबाद में मामती की पहाड़ियां जैव विविधता, वानस्पतिक विविधता, पुरासंपदा को सहेजे हुए हैं। इनमें झरनों का अदभुत संसार भी बसा हुआ है। एक ही पहाड़ी की कराई में कई झरने बहते हैं। बारिश में पूरे वेग से बहते झरने प्राकृतिक सौंदर्य को अप्रतिम कर देते हैं। यहां कुंडा खोह, माधो खोह, पिंडासल के झरने लोगों के लिए आकर्षण हैं ही। इनके अलावा भी पहाड़ियों में कई झरने लुभाते है। वॉच टावर के समीप सूखा खोह का झरना शनिवार दोपहर करीब एक घंटे की बारिश में ही पूरे शबाब पर दिखाई दिया। यहां पर करीब 150 फीट की ऊंचाई से दो झरने एक साथ गिरकर अद्भुत नजारा प्रस्तुत करते हैं। यहां तक पहुंचने के लिए वन विभाग वॉच टावर का मार्ग है।

खबरें और भी हैं...