पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विश्व तंबाकू दिवस पर विशेष:आज ही छोड़ें तंबाकू, यह कम करता है इम्युनिटी; फेफड़े भी होते हैं कमजोर

बारां23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारत में 26 करोड़ से ज्यादा लोग तंबाकू का सेवन करते है, जिसमें से हर साल 10 लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है

तम्बाकू, गुटखा और धूम्रपान से फेफड़े कमजोर होते हैं और यह रोग प्रतिरोधकता क्षमता को भी कम करते हैं। साथ ही कैंसर, ह्दय रोग आदि बीमारियों का कारण बनता है। विशेषज्ञों का कहना है कि आज ही तंबाकू, गुटखा, धूम्रपान का सेवन करना छाेड़े। जिलेभर में सोमवार को विश्व तंबाकू निषेध मनाया जाएगा। जिले में तंबाकू, बीड़ी, सिगरेट, गुटखा आदि व्यसन का प्रचलन अधिक है।

सभी वर्गों में यह व्यसन प्रचलित हैं। कोटा के कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. हर्ष गाेयल ने बताया कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार पूरे विश्व मे 60 फीसदी से ज्यादा लोग तंबाकू को छोड़ना चाहते हैं, लेकिन उचित सलाह के अभाव में वे तम्बाकू की लत को छोड़ नहीं पाते हैं।

पूरे विश्व में एक अरब से ज्यादा लोग तंबाकू का सेवन करते हैं। जिसमें से करीब 80 लाख लोगों तंबाकू की वजह से मृत्यु हो जाती है। भारत में करीब 26 करोड़ से ज्यादा लोग तंबाकू का सेवन करते हैं। जिसमें से करीब हर साल 10 लाख लोगों की तंबाकू सेवन से मृत्यु हो जाती है।

सावधान ! तंबाकू से हो सकती हैं घातक बीमारियां

तंबाकू खाने की बहुत बीमारियां होती है। इनमें कैंसर, हृदय संबंधी बीमारियां, श्वसन संबंधी बीमारियां, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाना, गर्भवती महिलाओं में गर्भपात का हो जाना शामिल है। कोरोना संक्रमण का भी खतरा तंबाकू या गुटखा खाकर जगह-जगह थूकने पर कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। तंबाकू हमारी इम्युनिटी को भी कम करता है। जिससे फेफड़े की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है और स्वस्थ होने की गति कम हो जाती है।

तीन उपाय- जिनकी मदद से छोड़ सकते हैं तंबाकू की लत

1 सबसे पहले मन में शक्ति इच्छा शक्ति और आत्मविश्वास का होना बहुत ज्यादा जरूरी है कि मुझे तंबाकू को छोड़ना ही है।

2 तंबाकू की याद आने पर गहरी गहरी सांसे ले जिससे तंबाकू खाने के समय को बढ़ाया जा सके। 1 सबसे पहले मन में शक्ति इच्छा शक्ति और आत्मविश्वास का होना बहुत ज्यादा जरूरी है कि मुझे तंबाकू को छोड़ना ही है।

3 तीसरा कारगर तरीका है 4D थेरेपी

  • पहले D से है डिले: तंबाकू की याद आने पर 10 मिनट उसे खाने से रुकें। धीरे-धीरे वक्त को बढ़ाएं ।
  • दूसरे D से ड्रिंक वाटर: पानी बहुत धीरे-धीरे पीना चाहिए।
  • तीसरे D से है डू समथिंग: अपने को व्यस्त रखें।
  • चौथे D से है डीप ब्रीथिंग: तंबाकू की याद आने पर गहरी सांसे ले जिससे समय बढ़ाया जा सके।

यह तरीके भी अपनाएं- सिगरेट, गुटखे को अपने आसपास से हटाएं

  • एक महीने बाद तारीख निश्चित करें कि मुझे इस दिन तक तंबाकू पूर्ण रूप से छोड़ना है।
  • तंबाकू (सिगरेट या गुटखे) को अपने घर ऑफिस पर से हटा लें ताकि जब भी इनकी याद आए तो वो आसानी से आपको ना मिले।
  • कैंडी टॉफी, गम, सौंफ, चॉकलेट पास में रखें ताकि जब भी आपको तंबाकू की याद आए तो उसे आप ले सकते हैं।
  • जो भी दोस्त, परिवारजन तंबाकू का सेवन करते हैं उनसे एक महीने तक दूरी बना ले।
  • दिन प्रतिदिन तंबाकू खाने की उपयोगिता (Frequency)को कम करते जाएं।

विश्व तंबाकू दिवस पर आज होगी वर्चुअल कार्यशाला, मुख्यमंत्री करेंगे संबोधित

विश्व तंबाकू दिवस पर सोमवार को वर्चुअल कार्यशाला होगी। इसमें मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होंगे। कार्यशाला की अध्यक्षता चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा करेंगे। 31 मई को दोपहर 12.15 बजे से 1.30 बजे तक जयपुर से वर्चुअल कार्यशाला टेलीकास्ट होगी।

सीएमएचओ डॉ. संपतराज नागर ने बताया कि इस वर्चुअल कार्यशाला में सीधा जुड़ने के लिए प्रतिभागी लिंक https://www.facebook.com/AshokGehlot.Rajasthan एवं दूसरे लिंक https://www.youtube.com/user/GehlotAshok पर ऑनलाइन की जाएगी।

डिप्टी सीएमएचओ हैल्थ डॉ. राजेंद्र मीणा नेबताया कि कार्यशाला में जिलेभर के जनप्रतिनिधि, अधिकारी, स्वंयसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि, कार्मिक सहित आमजन भी सहभागिता करेंगे। वर्चुअल कार्यशाला की तैयारियां पूरी कर ली हैं।

खबरें और भी हैं...