सेवा / रक्तदान कर बचाई मासूम बालिका की जान

Saved innocent child's life by donating blood
X
Saved innocent child's life by donating blood

  • बृजेश राठौर ने रात 10 बजे ब्लड बैंक पहुंचकर रक्तदान किया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:15 AM IST

बारां. जीवन रक्षक युवा टीम के सदस्य कोरोना के कहर में भी जरूरतमंदों के लिए रात में भी रक्तदान करवाने के लिए तैयार रहते हैं। टीम के संचालक सौरभ प्रजापति, विशाल प्रजापति व कमल प्रजापति ने बताया कि जिला अस्पताल में भर्ती 13 वर्षीय मासूम बालिका को पीलिया होने के कारण रक्त की जरूरत थी। बालिका के पिता कन्हैयालाल बैरवा ने जीवन रक्षक युवा टीम से संपर्क साधा। टीम के सदस्य कनिष्क शर्मा व नितिन प्रजापति की सहायता से बृजेश राठौर ने रात 10 बजे ब्लड बैंक पहुंचकर रक्तदान किया। 
बैंक प्रभारी डॉ. बिहारीलाल मीणा व विनोद कुमार साहू ने बताया कि जीवन रक्षक युवा टीम की कार्यशैली का असर अब शहरवासियों में भी देखने को मिल रहा है। इन रक्तदाताओं के उत्साह को देखकर प्रतिदिन शहरवासी टीम के जरिए ब्लड बैंक पहुंचकर रक्तदान कर रहे हैं। साथ ही रक्तदान करवाने में टीम के सदस्य हिमांशु यादव, जसवंत प्रजापति, अभिषेक गोस्वामी, कुलदीप मेघवाल, सियाराम मीणा, सुरेंद्र प्रजापति जिम्मेदारी निभा रहे हैं।
भीषण गर्मी में 30 किलोमीटर दूर चलकर किया रक्तदान

भीषण गर्मी में बारां ब्लड बैंक में एबी पॉजिटिव एवं बी पॉजिटिव रक्त की कमी हो गई है। ऐसे में जरूरतमंद को रक्त उपलब्ध होने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसी को देखते हुए हाड़ौती ब्लड डोनर सोसाइटी की टीम ईश्वरपुरा के कोऑर्डिनेटर पुरुषोत्तम मेहरा ने तीन युवकों से एबी पॉजिटिव रक्तदान करवाया। सोसायटी के रक्तप्रेरक पुरुषोत्तम मेहरा को सोशल मीडिया के माध्यम से सूचना मिली कि बृजमोहन पांचाल का हिमोग्लोबिन काफी कम रह गया है। इस पर मेहरा ने रक्तदाता लवकुश नागर ईश्वरपुरा से संपर्क करके बारां ब्लड बैंक पहुंचकर रक्तदान करवाया।

उसके बाद दीपा वह एक अन्य मरीज का भी  हीमो ग्लोबिन काफी कम रह गया था। पुरुषोत्तम मेहरा दोबारा ईश्वरपुरा पहुंचे तथा अपने मित्र योगेंद्र मीणा वे मांगीलाल बैरवा को लेकर बारां पहुंचे तथा उनसे रक्तदान करवाया। ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. बिहारी लाल मीणा ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन लगने के कारण रक्तदान शिविरों का आयोजन नहीं हो पा रहा है। इस कारण ब्लड बैंकों में रक्त की कमी आ गई है।

शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को रक्तदान करके थैलेसीमिया व अस्पताल में भर्ती मरीजों की सहायता के लिए नियमित रक्तदान करना चाहिए। जो भी रक्तदान करने में सक्षम है उन्हें आगे आकर रक्तदान करना चाहिए। ताकि ब्लड बैंक में रक्त की कमी को पूरा किया जा सके और अस्पताल में भर्ती मरीजों को आसानी से रक्त उपलब्ध करवाया जा सके।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना