पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनमानी:परवन ब्रिज पर हाईटेंशन लाइन ऊंची करने का काम बंद, अब बारिश में रुकेगा रास्ता

बारां24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छीपाबड़ोद. हाईटेंशन लाइन के कारण परवन ब्रिज पर आवाजाही बंद कर रखी है। कीचड़ से गुजरते लोग। - Dainik Bhaskar
छीपाबड़ोद. हाईटेंशन लाइन के कारण परवन ब्रिज पर आवाजाही बंद कर रखी है। कीचड़ से गुजरते लोग।
  • पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने 7 जुलाई तक काम पूरा करने का किया था दावा

परवन नदी हाई लेवल ब्रिज पर हाईटेंशन लाइन को ऊंचा करने का काम रुक गया है। पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने सात जुलाई तक काम पूरा कर ब्रिज पर आवाजाही शुरू करने का दावा किया था। पीडब्ल्यूडी एनएच की ओर से हाईटेंशन लाइन शिफ्टिंग का काम ब्रिज निर्माण कंपनी को दिया था। कंपनी ने पुराने कार्य की स्वीकृति नहीं मिलने का हवाला देकर काम बंद कर दिया है। अधिकारियों की मनमानी का खामियाजा बारां और झालावाड़ की जनता को भुगतना पड़ेगा।

परवन नदी ब्रिज के पुल के ऊपर से करीब साढ़े पांच मीटर ऊंचाई से गुजर रही हाईटेंशन लाइन को 14 मीटर ऊंचा किया जाना है। पीडब्ल्यूडी एनएच की ओर से यह कार्य भी निर्माण कंपनी को दे दिया है। कंपनी की ओर से पुराना भुगतान विवाद बताकर काम बंद कर दिया है। अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की अनदेखी का खामियाजा बारां और झालावाड़ की जनता को बारिश के मौसम में भुगतना पड़ेगा। विभाग की मंशा पर बड़ा सवाल यह है कि कंपनी से भुगतान को लेकर विवाद था, तो उसको काम क्यों दिया गया।

निर्माण कंपनी कार्मिक का यह है आरोपनिर्माण कंपनी के सिविल इंजीनियर व मैनेजर अविनाश गिरी ने बताया कि पीडब्ल्यूडी एनएच ने अतिरिक्त 184 मीटर रोड निर्माण का कार्य कंपनी से करा लिया। बाद में अतिरिक्त रोड निर्माण कार्य का लगभग 85 लाख रुपए के प्रस्ताव की स्वीकृति देने से मना कर दिया। वहीं सरकारी गलती, कोरोना के कारण देरी को कंपनी पर थोपा है। इसके एवज में कंपनी के लगभग 60 लाख रुपए जुर्माने के रूप में रोके हैं।^हाईटेंशन लाइन ऊंची करने की 32 लाख की राशि विभाग की ओर से स्वीकृत कर दी है। काम मौके पर विभाग की इलेक्ट्रिसिटी विंग ठेकेदार के माध्यम से करा रही है। बाकी के मामलों को लेकर विभाग के उच्च अधिकारियों को वर्तमान स्थिति से अवगत करा दिया है।- सीएम बैरवा, एक्सईएन, एनएच, झालावाड़

खबरें और भी हैं...