गाइडलाइन के रावण दहन कार्यक्रम:विजयादशमी आज: शहर में नहीं होगा रावण दहन कार्यक्रम

बारां2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना गाइडलाइन }पूर्व तैयारियां नहीं होने से सांकेतिक कार्यक्रम भी नहीं होगा, कस्बों-गांवों में निभाएंगे परंपरा, रावण के पुतले बनाए

विजयादशमी पर शुक्रवार को नगर परिषद की ओर से सार्वजनिक दशहरा उत्सव का आयोजन नहीं किया जाएगा। कोरोना गाइडलाइन की पालना में लगातार दूसरे साल रावण दहन कार्यक्रम नहीं हो सकेगा। बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व को लोग हर्षोल्लास से मनाएंगे। कस्बाई व ग्रामीण क्षेत्र में दशहरा पर्व को लेकर लोगों में उत्साह है।शहर में इस बार भी कोरोना गाइडलाइन के कारण दशहरा पर्व पर रावण दहन नहीं होगा। तीसरी लहर की आशंका के चलते 200 से अधिक लोगों के एकत्रित होने पर रोक है। ऐसे में सार्वजनिक आयोजन की अनुमति नहीं है। नगर परिषद की ओर से हर साल रामलीला और दशहरा पर्व पर झांकियां निकालने के साथ रावण दहन का आयोजन किया जाता था।

पिछले साल भी कोरोना संक्रमण के कारण आयोजन नहीं हो सके थे। इस बार भी आयोजन को लेकर स्वीकृति नहीं थी। कुछ दिन पूर्व राज्य सरकार की ओर से नियमों में ढील देते हुए 200 लोगों के कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति दी है। पूर्व तैयारियां नहीं होने से सांकेतिक कार्यक्रम भी नहीं होगा।

शहरवासियों में नाराजगी, बोले-सभी आयोजनों को अनुमति तो इसे क्यों नहीं शहर में दशहरा पर्व पर सार्वजनिक रावण दहन नहीं होने से लोगों में आक्रोश है। महावीर कला मंडल के अध्यक्ष योगेश गुप्ता ने बताया कि जब सरकार की ओर से सभी तरह के आयोजनों को अनुमति दे रखी है तो दशहरा पर्व पर कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ प्रतीकात्मक रूप से रावण दहन की अनुमति देनी चाहिए थी।शहर में यहां होता है दशहरा उत्सवशहर में सार्वजनिक रूप से लंका कॉलोनी स्थित रावणजी के चौक तथा जिले के छबड़ा, अंता, मांगरोल, किशनगंज समेत अन्य जगहो पर दशहरा पर्व पर रावण दहन किया जाता था।^सरकार की ओर से जारी कोविड गाइडलाइन की पालना के तहत शहर में इस बार दशहरा पर्व पर रावण दहन का आयोजन नहीं किया गया है। अागामी समय में गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए अायोजन करवाए जाएंगे।मनोज मीणा, आयुक्त, नगर परिषद बारां

खबरें और भी हैं...