अवैध खनन:आहू नदी से बजरी का खनन करने वाले 9 आराेपी गिरफ्तार, 27 वाहन भी पकड़े

भवानी मंडी9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खनन माफियाओं पर शिकंजा: अवैध खनन के मामले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने 7 घंटे में 11 सावल मशीनें, 13 ट्रैक्टर-ट्रॉलियां, 2 डंपर सहित कार भी जब्त की

आहू नदी से रात में बड़े पैमाने पर बजरी का अवैध खनन कर लाखाें रुपए का काराेबार करने वाले माफियाओं पर शिकंजा कसते हुए शनिवार रात पुलिस ने करीब 7 घंटे तक कार्रवाई कर मौके से 9 जनों को गिरफ्तार किया है। साथ ही नदी क्षेत्र से बजरी का खनन करने के उपयाेग में ली जा रही 11 सावल मशीनें, 13 ट्रैक्टर-ट्रॉलियां, 2 डंपर और एस्कॉर्टिंग के उपयाेग में ली जा रही कार को भी बरामद किया है।जिले में अवैध बजरी खनन के मामले में यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। इससे बजरी माफियाओं में खलबली मच गई है। पकड़े गए आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से 8 को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया, जबकि मुख्य आराेपी पारस को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर दिया है। एसपी किरण कंग सिद्धू ने बताया कि बजरी के अवैध खनन की रोकथाम के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान आहू नदी और नदी के किनारे नेहरावद गांव के माल में शाम होते ही बजरी के अवैध खनन के बारे में इनपुट मिले। इस पर झालावाड़ डीएसपी अमित बुडानिया और भवानीमंडी डीएसपी गोपीचंद मीणा के सुपरविजन में विशेष टीम का गठन किया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खनन करने वाले लोगों पर कार्रवाई कर मौके पर 9 जनों को पकड़ लिया।

पकड़े गए आरोपियों में ये हैं शामिलपुलिस के अनुसार भवानीमंडी पचपहाड़ निवासी रणजीत पुत्र पूर सिंह गुर्जर, आरोलिया गांव निवासी पारस गुर्जर पुत्र हरचंद, आरोलिया गांव निवासी सोनू गुर्जर पुत्र हरचंद, प्रहलाद गुर्जर पुत्र हरीशचंद, भगवानपुरा गांव निवासी बंटी राजपूत पुत्र कालूसिंह, कनवाड़ी गांव निवासी गोविंदसिंह पुत्र हीरालाल मेघवाल करणपुरा गांव निवासी समीर पुत्र मीर खान, नेहरावद गांव निवासी श्रीराम गुर्जर पुत्र कालूजी और मप्र मंदसौर जिले के संधारा गांव निवासी अर्जुन गुर्जर पुत्र तुलसीराम को गिरफ्तार किया गया है।

खबरें और भी हैं...