पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Bundi
  • 3 Anicuts To Be Built On River Mej At A Cost Of 58 Crore Work Will Start After Monsoon, Water Will Be Available For Drinking And Irrigation

भास्कर एक्सक्लूसिव:58 करोड़ की लागत से मेज नदी पर बनेंगे 3 एनीकट; मानसून के बाद शुरू होगा काम, पीने और सिंचाई के लिए मिलेगा पानी

बूंदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनीकट बनने से इलाके का पानी बेकार बहकर चंबल में नहीं जाएगा, जिले में बढ़ेगा ग्राउंड वाटर लेवल
  • बड़गांव एनीकट : लागत : 18.42 करोड़, कैपेसिटी : 40.73 एमसीएफटी

जिले में मेज नदी पर तीन बड़े एनीकट बनेंगे। ये एनीकट बड़गांव, झाड़कस और सादेड़ा गांवों के पास मेज नदी पर बनेंगे। इन पर 57 करोड़ 43 लाख 28 हजार रुपए खर्च होंगे। इसकी वित्तीय स्वीकृति भी मिल चुकी है। इनके बनने से इलाके का पानी बेकार ही चंबल में नहीं बहेगा, सिंचाई और पीने के लिए पानी मिलेगा। वहीं कई गांवों के एरिया में भू-जलस्तर भी ऊपर उठेगा। साथ ही मेज नदी में भी जल भराव बना रहेगा।^तीनों एनीकटों से गांवों को सिंचाई, पीने के लिए पर्याप्त पानी मिलेगा। इलाके का भूजल स्तर बढ़ेगा। फिलहाल एनआईटी की प्रोसेसिंग चल रही है, मानसून के बाद काम शुरू हो जाएगा।-आरके पाटनी, एक्सईएन, जल संसाधन बूंदी

बूंदी से 25 किमी दूर है। एनीकट साइट गुढ़ा बांध के डाउनस्ट्रीम में बांध से 30 किमी नीचे मेज नदी पर बड़गांव के पास है। गुढ़ा बांध के वेस्ट वियर का पानी और बांध के डाउनस्ट्रीम के कैचमेंट एरिया का पानी बहकर चंबल में मिल जाता है, जिससे इसका कोई इस्तेमाल नहीं हो पा रहा। यह एनीकट 7 मीटर ऊंचा होगा। इससे 40.73 एमसीएफटी पानी जमा होगा। इससे मेज नदी में 2.7 किमी तक पानी का भराव भी बना रहेगा। बड़गांव एनीकट से हिंडौली विधानसभा क्षेत्र में जल संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा। खेतों में सिंचाई और पीने के लिए पानी मिलेगा। बड़गांव सहित बंजारों का झोंपड़ा, बोरदा, होलासपुरा, सुहरी गांवों का भूजल स्तर बढ़ेगा। एनीकट बनाने पर 18 करोड़ 42 लाख 78 हजार रुपए खर्च होंगे।

झाड़कस एनीकट : लागत : 19.46 करोड़, कैपेसिटी : 42.02 एमसीएफटी बूंदी से 30 किमी दूर है। झाड़कस एनीकट साइट मेज नदी और उड़ेल नदी के संगम स्थल से 5 किमी नीचे झाड़कस गांव के पास है। मेज नदी पर स्थित गुढ़ा बांध एवं उड़ेल नदी पर निर्माणाधीन बड़ा नयागांव बांध के वेस्ट वियर से निकलने वाला पानी और बांधों के डाउनस्ट्रीम के कैचमेंट एरिया का पानी बहकर चंबल में मिल जाता है। क्षेत्र के जल का उपयोग नहीं हो पा रहा है। प्रस्तावित साइट पर लगभग 5 मीटर ऊंचाई का एनीकट बनेगा, जिससे 42.02 एमसीएफटी पानी जमा होगा। इससे मेज नदी में लगभग 5 किमी तक पानी का भराव बना रहेगा। झाड़कस एनीकट बनने से क्षेत्र में जल संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा। खेती और पीने के लिए पानी मिलेगा। क्षेत्र के आसपास के झाड़कस विषधारी, डाबेटा, सावंतगढ़, निमोद, गांवों में ग्राउंड वाटर का लेवल बढ़ेगा। एनीकट बनाने पर 19 करोड़ 46 लाख 39 हजार रुपए खर्च होंगे।

खबरें और भी हैं...