हादसा / बूंदी के सांकड़दा में 7 कच्चे घर जले

7 raw houses burnt in Bundi's land
X
7 raw houses burnt in Bundi's land

  • मजदूरी पर गए थे परिजन, गैस चूल्हे पर बच्चे बना रहे थे चाय, हुआ लीकेज
  • गैस सिलेंडर लीक होने की भी आशंका

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बूंदी. गांव में खेतों के पास खाल में स्थित बस्ती के 6-7 कच्चे घर-झाेंपड़े आग में स्वाह हो गए। एक घर में खड़ी बाइक और पांच हजार रुपए भी जल गए। स्थानीय परिवारों का ज्यादातर सामान स्वाह हो गया। रसोई गैस सिलेंडर फटने से बच गया। हादसे का कारण गैस सिलेंडर लीक होना बताया गया है।
ग्रामीण भगतराम जांगिड़ ने बताया कि बस्ती में शनिवार सुबह 10 बजे एक घर में रसोई गैस लीक हो गई। इससे झाेंपड़ी में लगी आग भीषण गर्मी के बीच आसपास के घरों में फैल गई। घरों में जरूरत का सामान जलकर राख हो गया। बस्तीवासियों ने अपने स्तर पर घरेलू बर्तनों से पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया, पर आग सबकुछ राख होेने के बाद ही थमी। अग्निकांड में बस्ती के रतिराम भील, मन्नालाल, फोरूलाल, छीतरलाल, हजारीलाल, महावीर भील के घर जल गए हैं। घटना के समय परिवार मजदूरी पर गए हुए थे। घराें पर रहे बच्चे रसोई गैस पर चाय बना रहे थे कि अचानक आग लग गई। आसपास के ग्रामीणाें ने अाकर ट्यूबवैल से आग बुझाई। बाद में फायर ब्रिगेड अाई, तब तक सब-कुछ जलकर राख हो चुका था। सूचना पर नमाना व सदर पुलिस ने मुआयना किया। रामगंज सरपंच रामलाल सैनी व कालपुरिया सरपंच भगवानसिंह ने पीड़ित परिवारों को राशन सामग्री दी।
आग ने बस्ती के गरीब परिवारों का सब कुछ राख कर डाला, उन पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल है। बच्चों-बुजुर्गों के तन पर कपड़े के सिवाय कुछ भी नहीं बचा। कच्चे घरों-झोंपड़ियों में रखे रुपए, मोटरसाइकिल, साइकिल, गेहूं, कपड़े, बिस्तर, गैस चूल्हा, राशन सामग्री सब-कुछ आग में जल गई। परिवार बेघर हो गए। प्रत्यक्षदर्शी फुले ब्रिगेड जिला प्रभारी धनराज सुमन ने बताया कि घर में रखी गैस टंकी भी आग में घिर गई, पर फटी नहीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना