भेड़ों का निष्क्रमण:शहर के बीच से गुजरा भेड़ों का काफिला

बूंदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस साल 19695 भेड़ें आईं, 16395 का हुआ निष्क्रमण

इन दिनों भेड़ों का निष्क्रमणकाल चल रहा है। हजारों भेड़ें हाड़ौती से मारवाड़ लौट रही हैं। भेड़ों के रेवड़ आधी रात में शहर से होकर भी गुजरते हैं। बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात करीब डेढ़ बजे शहर के सदर बाजार से भेड़ें गुजरी। ऐसे लग रहा था जैसे भेड़ों की नदी बह रही हो। दरअसल, इसी सड़क से बरसात में नागदी (छोटी नदी) बहती है।जुलाई में मारवाड़ से प्रवेशजुलाई में मारवाड़ से रेवड़ हाड़ौती में प्रवेश करने लगते हैं और बारिश खत्म होने के बाद अक्टूबर में निष्क्रमण शुरू हो जाता है। इस साल जिले में 19 हजार 695 भेड़ों ने प्रवेश किया। इनमें से 16 हजार 395 भेड़ों का निष्क्रमण हो चुका है, अभी 3500 भेड़ें बची हैं, जो अगले तीन-चार दिन में लौट जाएंगी। पूर्व में भेड़पालकों और स्थानीय किसानों के बीच चराई को लेकर खूनी संघर्ष होते थे। प्रशासन ने इनके रूट तय कर दिए थे और पशुपालन विभाग को इनकी जिम्मेदारी दी गई थी।

खबरें और भी हैं...