• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Bundi
  • A Day Ago, The Girl Was Given Birth In Bundi District Hospital, The Maternity Reached The Examination Center By Ambulance, Said – Did Not Want To Spoil The Hard Work

डिलीवरी के 3 घंटे बाद REET देने पहुंची:एक की 2 दिन पहले हुई थी सिजेरियन डिलीवरी, एंबुलेंस से एग्जाम सेंटर पहुंची, बोलीं- मेहनत खराब नहीं होने देना चाहती

बूंदी4 महीने पहले

प्रदेशभर में आज रीट की परीक्षा आयोजित हुई। दूर-दराज से कई परेशानिया झेलते अभ्यर्थी एग्जाम देने पहुंचे। लेकिन इस दौरान सबसे अलग तस्वीरें थीं उन महिला अभ्यर्थियों की जो कुछ घंटों पहले ही मां बनीं और परीक्षा देने पहुंची। एक महिला अभ्यर्थी तो सिजेरियन होने के 20 घंटे बाद ही परीक्षा देने सेंटर पर पहुंची। जज्बे और जुनून से भरी कुछ तस्वीरें दैनिक भास्कर आपके साथ साझा कर रहा है।

ये हैं धौलपुर की रामा शर्मा, जो सुबह 10 बजे मां बनीं और 2.30 बजे की दूसरी पारी में एंबुलेंस के जरिए ही एग्जाम देने पहुंचीं।
ये हैं धौलपुर की रामा शर्मा, जो सुबह 10 बजे मां बनीं और 2.30 बजे की दूसरी पारी में एंबुलेंस के जरिए ही एग्जाम देने पहुंचीं।

डिलीवरी के 3 घंटे बाद परीक्षा देने पहुंची महिला

धौलपुर जिले में हुई रीट की परीक्षा के दौरान द्वितीय पारी में डिलीवरी के 3 घंटे बाद एक महिला एंबुलेंस से परीक्षा देने पहुंची। महाविद्यालय में परीक्षा देने पहुंची महिला रामा शर्मा निवासी पिपरौन ने बताया कि परीक्षा के लिए वह लंबे समय से तैयारी कर रही थी। सोमवार सुबह 10:00 बजे जिला चिकित्सालय धौलपुर में उसकी नॉर्मल डिलीवरी हुई। डिलीवरी के बाद वह अपने नवजात को लेकर परीक्षा देने के लिए परीक्षा केंद्र पहुंची। एंबुलेंस के जरिए परीक्षा केंद्र पहुंची महिला ने बताया कि परीक्षा को लेकर वह पहले से ही तनाव में थी। लेकिन नॉर्मल डिलीवरी हो जाने के बाद परीक्षा को लेकर उसका उत्साह दोगुना हो गया। जिसके बाद महिला परिजनों के साथ परीक्षा सेंटर पहुंची। जहां दोपहर की पारी में महिला ने रीट की परीक्षा दी।

शनिवार को डिलीवरी, 20 घंटे बाद ही परीक्षा देने पहुंची

बूंदी जिले के बालचंद पाड़ा निवासी अर्चना गुर्जर ने शनिवार दोपहर 1 बजे को जिला अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म के 20 घंटे बाद रविवार सुबह वह REET के लिए एंबुलेंस से केशोरायपाटन स्थित सेंटर के लिए रवाना हुई। अर्चना ने कहा कि वह लंबे समय से REET की तैयारी कर रही थी, ऐसे में अपनी मेहनत को खराब नहीं होने देना चाहती थी और उसने परीक्षा देने का फैसला किया।

बूंदी अस्पताल में परिजन की गोद में नवजात।
बूंदी अस्पताल में परिजन की गोद में नवजात।

अर्चना की शनिवार दोपहर नॉर्मल डिलीवरी हुई थी। जज्चा-बच्चा दोनों ही स्वस्थ थे। बच्ची को जन्म देने के बाद अर्चना को REET की चिंता सताने लगी। अर्चना लंबे समय से इसकी तैयारियों में जुटी थी। ऐसे में वह इस मौके को गंवाना नहीं चाहती थी। अर्चना ने परिजनों से परीक्षा देने की बात कही। परिजन ने कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा से बात की। शाम को उन्होंने परिजनों के साथ ADM व अन्य अधिकारियों से बात की तो उन्होंने परीक्षा दिलवाने पर सहमति दे दी और परीक्षा केंद्र पर व्यवस्था करवाई। इसके बाद आज सुबह एंबुलेंस के जरिए 50 किलोमीटर दूर केशोरायपाटन स्थित सेंटर के लिए अर्चना को परिवार के साथ रवाना किया।

2 दिन पहले हुई थी सिजेरियन डिलीवरी, परीक्षा देने पहुंची

सिजेरियन डिलीवरी के 2 दिन बाद परीक्षा देने पहुंची प्रसूता।
सिजेरियन डिलीवरी के 2 दिन बाद परीक्षा देने पहुंची प्रसूता।

धौलपुर शहर के गर्ल्स स्कूल में भी एक प्रसूता एंबुलेंस से परीक्षा देने के लिए पहुंची। महिला की 2 दिन पहले सिजेरियन डिलीवरी हुई थी। महिला रवीना पत्नी हरीश ने बताया कि 2 दिन पहले धौलपुर जिला अस्पताल में उसकी ऑपरेशन से डिलीवरी हुई थी। उसने REET के लिए काफी तैयारी की थी। ऐसे में वह हर हाल में परीक्षा देना चाहती थी। उसने यह बात पति को बताई, तो उन्होंने भी उनका साथ दिया। इसके बाद आज वह एंबुलेंस से परीक्षा केंद्र पर पहुंची हैं।

1 दिन बाद की डिलीवरी डेट, परीक्षा देने आई

1 दिन बाद डिलीवरी की डेट, परीक्षा देने पहुंची मीनाक्षी।
1 दिन बाद डिलीवरी की डेट, परीक्षा देने पहुंची मीनाक्षी।

जोधपुर में भी राणावास से एक गर्भवती अभ्यर्थी मीनाक्षी परीक्षा देने पहुंची। डॉक्टर ने 27 सितंबर को डिलीवरी डेट दे रखी है। मीनाक्षी ने बताया कि पिछली बार परीक्षा में 1 नंबर से रह गई थी। इस बार दोगुने जोश से परीक्षा की तैयारी की थी, ऐसे में हर हाल में परीक्षा देना चाहती थी।

एग्जाम सेंटर में एंट्री नहीं मिलने पर रोती-बिलखती रही:देरी से पहुंचने वाले गेट के बाहर हाथ जोड़कर मिन्नतें करते रहे, पर प्रबंधन नहीं पसीजा; गुजरात से आई महिला का एडमिट कार्ड खो गया

रीट लेवल-2 में 115 से 125 कट ऑफ की उम्मीद:दैनिक भास्कर ने एक्सपर्ट से कराया एनालिसिस, कैंडिडेट बोले- पेपर था आसान

खबरें और भी हैं...