पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विधायक चंद्रकांता का आरोप:प्रशासन मेरे साथ चले, मैं दिखा सकती हूं, कहां पर हो रहा बजरी-मिट्टी खनन

बूंदी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 47 करोड़ खर्च होने के बाद शहर में जलसंकट क्यों कायम, राज्य सरकार कराए इसकी जांच

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने आराेप लगाया कि शहर में अमृत योजना में पेयजल व्यवस्था सुदृढ़ीकरण के लिए 47 करोड़ खर्च किए गए। इसके बावजूद शहर में पेयजल संकट बना हुआ है। शहर में बिछाई गई सीवरेज लाइन में व्यापक भ्रष्टाचार हुआ है। इसकी राज्य सरकार को संपूर्ण जांच करवानी चाहिए। मेघवाल ने सर्किट हाउस में बुलाई पत्रकार वार्ता में कहा कि जिले में खुलकर अवैध खनन हो रहा है।बरधाबांध-चंबल नदी से मिट्टी उठ रही है।

चंबल घड़ियाल अभ्यारण्य से अवैध खनन की कौन इजाजत दे रहा है। अवैध खनन सरकार की शह पर हो रहा है। यह सारा कार्य जिले के अधिकारियों की आंखों के सामने हो रहा है। मैं खुद प्रशासन को सबूत दे चुकी हूं, फिर भी कोई सुनने वाला नहीं है। प्रशासन मेरे साथ चले, मैं दिखा सकती हूं, कहां पर अवैध बजरी-मिट्टी खनन हो रहा है।उन्हाेंने कहा कि जिले में भी भ्रष्टाचार चरम पर है। सरकार अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।

अपनी नाकामी छिपाना चाहती है सरकार राष्ट्रवादी संगठन पर झूठे आरोप लगाकर सरकार अपनी नाकामी छिपाना चाहती है। जयपुर की पूर्व मेयर ज्योति खंडेलवाल का एक चैनल में लेनदेन का मामला सामने आया था। मुख्यमंत्री गहलोत ने इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया। गहलोत सरकार ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है। वह भाजपा और संघ को तथ्यहीन आरोप लगाकर बदनाम करने में लगी है। कोरोना की विपदा में स्वयंसेवक संघ देशवासियों की सेवा में जुटे रहे हैं। भाजपा शासन में प्रदेश विकास की पटरी पर दौड़ रहा था। यह सरकार जनहित में निर्णय नहीं ले पा रही है। राज्य कर्ज के भार में दबता जा रहा है। इस दौरान पूर्व विधायक ओमप्रकाश शर्मा, भाजपा नेता कुंजबिहारी बील्या, सुरेश अग्रवाल, महावीर खंगार, जितेंद्रसिंह हाड़ा, पार्षद मानस जैन, नवीनसिंह, गोलू नायक, तिलोक कुमावत, ओम जांगिड़, दिलीपसिंह, गौरव शर्मा साथ रहे।

खबरें और भी हैं...