पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्लिनिक पर छापा, दवाइयां जब्त:झोलाछाप क्लिनिक पर छापा, दवाइयां जब्त

बूंदीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोविंदपुर बावड़ी में क्लिनिक से बिना बिल व नकली के संदेह पर दवाओं के लिए नमूने

औषधि नियंत्रण संगठन और चिकित्सा विभाग की टीम ने मंगलवार को तालेड़ा तहसील क्षेत्र में गोविंदपुर बावड़ी स्थित लोधा क्लिनिक पर छापा मारा। इस क्लिनिक के बारे में विभाग काे शिकायत मिल रही थी, जिस पर अब टीम ने बोगस ग्राहक भेजकर शिकायत का सत्यापन करवाया। शिकायत सही पाए जाने पर टीम द्वारा छापा मारकर क्लिनिक पर कार्रवाई की गई।इस दौरान क्लिनिक का संचालन गोविंद लोधा पुत्र मोतीलाल लोधा द्वारा करना पाया गया। उनके द्वारा ही अवैध रूप से चिकित्सा अभ्यास करना पाया गया। टीम ने सख्ती से पूछताछ करने पर गोविंद लोधा द्वारा बिना प्रमाण-पत्रों के अवैध रूप से इलाज करना स्वीकार किया गया। बिना लाइसेंस के हजारों की मात्रा में एलोपैथिक दवाइयां मरीजों को बेचना पाया गया। इस पर टीम के सदस्य औषधि नियंत्रण अधिकारी दिनेश कुमावत ने क्लिनिक में हजारों की मात्रा में मिली एलोपैथिक दवाइयों को जब्त किया। बिना बिल एवं नकली होने के संदेह के आधार पर 2 दवाओं के नमूने लिए गए, जिन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। जब्त की गई दवाइयों की सूचना बूंदी न्यायालय में दी जाएगी। प्रकरण में पूरी जांच के बाद दोषी व्यक्ति के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई कर उसे न्यायालय से सख्त सजा दिलवाई जाएगी। टीम में औषधि नियंत्रण अधिकारी योगेश कुमार और चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव मथुरिया शामिल थे।दूसरे दवा विक्रेता दुकानें बंद कर भागे: विभागीय कार्रवाई की सूचना मिलते ही आसपास के मेडिकल स्टोर संचालकों और अन्य क्लिनिकों में हड़कंप मच गया। वे सभी अपनी दुकानें बंद करके भाग गए। औषधि नियंत्रण अधिकारी दिनेश कुमावत ने बताया कि क्लिनिक की काफी दिनों से शिकायत मिल रही थी। दूसरे स्थानों पर भी झोलाछाप क्लिनिक पर जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों ऐसे फर्जी लाेगाें पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...