खेतों में भरा एक से डेढ़ फीट पानी:मक्का, सोयाबीन व तिलहन की फसल खराब,महंगे दामों में बीज लेकर की बुवाई,किसानों की मेहनत पर फिरा पानी

बूंदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरसात के कारण खेतों  में भरा पानी। - Dainik Bhaskar
बरसात के कारण खेतों में भरा पानी।

नमाना क्षेत्र में पिछले दिनों लगातार बरसात से खेतों में पानी भर गया हैं । इससे मक्का, सोयाबीन व तिलहन की अंकुरित फसल ही खराब हो गई है। अब किसानों को केवल धान की फसल से उम्मीद है। खेतों में अभी तक एक से डेढ़ फीट पानी भरा हुआ है। दूसरी ओर दो दिन बरसात रूके हो गए। इसके बावजूद अभी तक राजस्व व कृषि विभाग के अधिकारियों के मौके पर आकर खराब फसलों का जायजा नहीं लेने से किसान नाराज हैं। किसानों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के कोटा स्थित कार्यालय जाकर ज्ञापन दिया और किसानों ने खराब फसलों के मुआवजे की मांग की है। लोकसभा अध्यक्ष ने कलेक्टर आशीष गुप्ता से खराब फसलों का सर्वे करवाकर मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया हैं।

किसानों को अब धान की फसल का आसरा
सुंदरपुरा किसान बद्री मालव ने बताया कि महंगे दामों में बीज लेकर फसल की बुवाई की थी, लेकिन सब अरमानों पर पानी फिर गया। नमाना भाजपा नेता बद्री मालव, नवल धाकड़, जितेंद्र मेवाड़ा ने कहा कि सबसे अधिक नुकसान श्यामू ,मालीपुरा, हरिपुरा , लोईचा, धनातरी, किशनपुरा, गोपाल निवास, बावड़ी खेड़ा, व्यास बावड़ी, आमली, जवाहर नगर, मंडावरा, भैरूपुरा बरड व सुन्दरपुरा नमाना में हुआ है। उन्होंने बताया कि मक्का व सोयाबीन की फसल तो अंकुरित हो चुकी थी, लेकिन खेतों में पानी अधिक होने के कारण अंकुरित फसल ही खत्म हो गई ।

खबरें और भी हैं...