अच्छी खबर:रामगढ़ सेंचुरी को अंतिम रूप देने के लिए एक्सपर्ट कमेटी गठित

बूंदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टाइगर रिजर्व व उसके आसपास के एरिया का करेगी अध्ययन, 30 नवंबर तक सब्मिट करनी है रिपोर्ट

रामगढ़ टाइगर रिजर्व के स्वरूप को अंतिम रूप देने के लिए एक्सपर्ट कमेटी गठित कर दी गई, जो जल्द ही यहां आएगी। इस कमेटी को 30 नवंबर तक सरकार को अपनी रिपोर्ट सब्मिट करनी है। राजस्थान सरकार के वन सेक्रेटरी बी. प्रवीण ने गुरुवार को कमेटी करने के आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों में रामगढ़ टाइगर रिजर्व के लिए एनटीसीए द्वारा दी गई सहमति का हवाला दिया गया है।

इस कमेटी में चेयरमैन सहित 6 जने शामिल रहेंगे। कमेटी के चेयरमैन पीसीसीएफ होंगे। सदस्य के रूप में रिटायर्ड आरएफएस डॉ. सतीश शर्मा, रिटायर्ड आरएफएस दौलतसिंह शक्तावत, सीसीएफ एंड एफडी, एमएमटीआर कोटा, सदस्य सेक्रेटरी डिप्टी कंजर्वेटर ऑफ फारेस्ट रहेंगे। यह कमेटी कोर व बफर एरिया का बारीकी से अध्ययन करेगी। साथ ही टाइगर के लिए यहां की अनुकूल परिस्थतियांे का भी अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी।

रामगढ़ टाइगर सेंचूरी में दो प्रादेशिक वन मंडल का एरिया भी है शामिल टाइगर रिजर्व के लिए 1052.14 वर्ग किमी एरिया प्रस्तावित किया गया है। इसमें दो प्रादेशिक वन मंडल का एरिया भी है, जिनमें बूंदी व भीलवाड़ा जिला है। वर्तमान में रामगढ़ सेंचुरी एरिया में पिछले 14 माह से टी-115 विचरण कर रहा है। टाइगर को यहां की आबोहवा पूरी तरह से रास आ रही है। यहां जल्द ही प्रे-बेस भी रिलीज किए जाने हैं।

खबरें और भी हैं...