पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाल विवाह रुकवाया:किशाेर-किशाेरी की शादी कराने पर अड़े थे परिजन, स्कूल रिकाॅर्ड से पकड़ा उम्र छुपाने का झूठ

बूंदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

16 साल के किशाेर-किशाेरी की शादी हाेने वाली थी। परिजनाें ने सारी तैयारी कर ली, लेकिन प्रशासनिक तंत्र काे बाल विवाह कराए जाने की सूचना मिल गई। प्रशासनिक टीम शादी काे रुकवाने के लिए आ गई। किशाेर-किशाेरी के माता-पिता ने पुलिस और प्रशासन को विवाह याेग्य उम्र बताई।इसको लेकर फर्जी आधार कार्ड से गुमराह करने की कोशिश की, परंतु चाइल्ड लाइन टीम ने किशाेर-किशाेरी की उम्र आधार कार्ड में फर्जी मानते हुए दोनों के स्थानीय स्कूल से रिकॉर्ड मंगवाए, जिसमें किशाेर-किशाेरी दोनों लगभग सोलह वर्ष के ही मिले। इसके अनुसार टीम ने किशाेर-किशाेरी के माता-पिता को फटकार लगाई।

अभी विवाह नहीं करने के लिए पाबंद करवाया और आगे विवाह पर निगरानी रखने के लिए स्थानीय रामनगर पुलिस चौकी प्रभारी को जिम्मेदारी दी।इससे पहले चाइल्ड हेल्पलाइन बूंदी को 1098 पर मुखबिर से सूचना मिली थी कि रामनगर कंजर कॉलोनी में दो नाबालिग बच्चाें का विवाह होने जा रहा है। इस पर टीम ने पहले तो इनकी पूरी जानकारी जुटाई और फिर बूंदी से चाइल्ड लाइन के समन्वयक श्योजीलाल कहार, काउंसलर संजना शर्मा, टीम सदस्य दीपकसिंह व देवस्मिता दाधीच, नायब तहसीलदार प्रीतम मीणा, कानूनगो कंवरप्रसाद दाधीच और सदर थानाधिकारी संदीप शर्मा पुलिस जाब्ता लेकर रामनगर कंजर कॉलोनी पहुंचे।फिर बाल विवाह के बारे में पूछताछ की तो परिजनाें ने उन्हें बाताें में खूब उलझाने की काेशिश की, लेकिन स्कूली रिकाॅर्ड की जांच करने से उम्र छुपाने का झूठ पकड़ा गया। इसके बाद उन्हें बाल विवाह नहीं करने काे पाबंद किया गया।

खबरें और भी हैं...