पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेहनत से पाया मुकाम:आएएस रिजल्ट में दाे युवाओं ने जिले का नाम किया रोशन

बूंदी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीख कर काम करने की मंशा अाैर पिछड़े लोगों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ना किया तय

आरएएस इंटरव्यू का मंगलवार को रिजल्ट जारी हो गया। बंूदी के दो युवाओं ने जिले का नाम रोशन किया है। रिजल्ट आने के बाद परिवार में खुशियों का माहौल है। बधाई देने वालों का दिनभर तांता लगा रहा। दोनों युवाओं की प्रारंभिक शिक्षा बूंदी में ही हुई है।गढ़ की पड़स निवासी शिवांक शर्मा ने 2000 में से जनरल में 152वीं रेंक प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि वे बच्चों की शिक्षा के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं। समस्याओं का त्वरित समाधान करना उनकी पहली प्राथमिकता रहेगी। शिवांक शर्मा के पिता विश्वजीत शर्मा फोटोग्राफर और माता शीला दाधीच गृहिणी है। 26 वर्षीय शिवांक ने बताया कि साइंस-मैथ्स से 12वीं तक शिक्षा इम्मानुएल सीनियर सैकंडरी स्कूल से पूरी की है। इसके बाद जयपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की।

जयपुर में ही आरएएस की कोचिंग करते हुए 2018 की वेकेंसी में पहला प्रयास किया। 2019 में मेन्स क्लियर किया। वर्ष 2020 में रिजल्ट आया।ब्रह्मपुरी निवासी हर्ष महावर ने जनरल में 1309 में एससी केटेगरी में 51वीं रेंक प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि उनका फोकस रहेगा समाज के पिछड़े लोगों को मुख्यधारा से जोड़ना। महिलाओं, वंचित वर्ग के लिए कार्य करेंगे। शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करूंगा। हर्ष महावर ने बताया कि उन्होंने आदर्श विद्या मंदिर नैनवां रोड से 10वीं क्लियर की। इसके बाद साइंस मेथ्स सब्जेक्ट लेकर आगे की 12वीं की पढ़ाई कोटा से की। कॉलेज शिक्षा एसएस जैन सुबोध कॉलेज से प्राप्त कर बीएससी कंपलीट की। प्रथम वर्ष से ही आरएएस की तैयारी शुरू कर दी थी और पहले प्रयास में ही सफल हुए। उनके पिता देवीशंकर महावार सींता सीनियर सैकंडरी स्कूल में प्रिसिंपल है और माता शारदा गृहिणी है।

खबरें और भी हैं...