• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Bundi
  • Kharif Crop Destroyed Due To Dam Water Filling In 230 Bigha Land, A Dozen Families Are Staging A Sit in Outside SDM Office For 29 Days

भोमपुर बांध का एक हिस्सा तोड़कर निकाला पानी:230 बीघा भूमि में बांध का पानी भर जाने से खरीफ की फसल नष्ट, एक दर्जन परिवार 29 दिन से SDM ऑफिस के बाहर दे रहा धरना

बूंदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोमपुरा बांध से जेसीबी की मदद से पानी की निकासी कराते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
भोमपुरा बांध से जेसीबी की मदद से पानी की निकासी कराते अधिकारी।

बूंदी जिले के नैनवां उपखंड के भोमपुरा गांव के ग्रामीणों के जन सहयोग से बनाए गए मिट्टी के बांध से पानी की निकासी को लेकर धरना देते ग्रामीणों को 29 दिन हो गए। गुरुवार को प्रशासन जेसीबी लेकर मौके पर पहुंचा। जेसीबी की मदद से बांध का एक बड़ा हिस्सा गहरा करवा पानी को निकासी की गई। जिससे डूबे क्षेत्र के किसानों को राहत मिलेंगी।

नैनवां क्षेत्र के बामनगांव के किसानों की 230 बीघा भूमि में बांध का पानी भर जाने से खरीफ की फसल नष्ट हो गई थी। इसके अलावा मकानों में पानी भर गया व मवेशियों का चारा नष्ट हो गया। इन सब हालातों से परेशान करीब एक दर्जन परिवार 29 दिन से एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना देकर खेतों से पानी की निकासी करवाने की मांग कर रहे थे। इन किसानों की समस्या का समाधान करने के लिए एसडीएम श्योराम, डीएसपी कैलाश जाट, तहसीलदार अमितेश मीणा, सीआई बृजभान सिंह गुरुवार दोपहर पहुंचे। प्रशासन ने जेसीबी से नाला गहरा करवाकर पानी की निकासी करवाना शुरू किया। इससे पहले भी दो बार प्रशासन वहां का जायजा ले चुका है।

बामन गांव के मुख्य भोमपुरा में पानी की कमी को देखते हुए बांध का निर्माण एक साल पहले शुरू किया था। किसानों ने जन सहयोग से बिना तकनीकी जानकारी के ही बांध बनाकर तैयार कर लिया। उसके बाद पहली बरसात में बांध में पानी भरा तो किसानों खुशी 4 गुनी हो गई। लेकिन, पानी का भराव क्षेत्र में फेल गया। इस कारण वहां के एक दर्जन किसान परिवार की 230 बीघा जमीन पानी में डूब गई। इसी बात से परेशान किसानों नैनवां उपखंड मुख्यालय पर धरना दिया। पानी की निकासी की मांग को लेकर लगातार 29 दिन तक धरना दिया गया। जिसके बाद गुरुवार को प्रशासन ने बांध से पानी खाली किया, जिससे किसानों को राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...