पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरोहरों के संरक्षण का संदेश:पेंटिंग्स के माध्यम से धरोहरों के संरक्षण का संदेश

बूंदी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बूंदी. ऐतिहासिक स्थलों के संरक्षण के लिए बूंदी ब्रश के कलाकारों ने खूबसूरत पेंटिंग्स बनाई। - Dainik Bhaskar
बूंदी. ऐतिहासिक स्थलों के संरक्षण के लिए बूंदी ब्रश के कलाकारों ने खूबसूरत पेंटिंग्स बनाई।
  • बूंदी ब्रश के कलाकारों ने बेहतरीन पेंटिंग्स बनाई, जलरंग वर्कशॉप आयोजित कर उकेरे लुभावने चित्र

ऐतिहासिक धरोहरों के संरक्षण के लिए बूंदी ब्रश संस्था लगातार प्रयास कर रही है। रविवार को संस्था के कलाकारों ने पेंटिंग्स के माध्यम से इन धरोहरों के संरक्षण का संदेश दिया। बाणगंगा स्थित शिकारबुर्ज के ब्रश के कलाकारों की ओर से जलरंग वर्कशॉप आयोजित कर कई लुभावने चित्र उकेरे।बूंदी ब्रश संस्थान के अध्यक्ष सुनिल जांगिड़ ने बताया कि बूंदी पुरामहत्व के स्थलों का रखरखाव, साफ-सफाई, मरम्मत के अभाव में दिनों दिन इनकी स्थिति बिगड़ती जा रही हैं। बूंदी ब्रश संस्था इन स्थलों के रखरखाव के लिए चित्र उकेर कर ध्यान आकर्षित करती है।

बूंदी ब्रश के फाउंडर मेंबर पंकज सिसोदिया ने ऐतिहासिक धरोहर को लेकर अलग-अलग स्थान पर वर्कशॉप आयोजित कर इनके महत्व के प्रति जागरूक करने की बात कही। संस्था के फाउंडर मेंबर व संरक्षक नंदप्रकाश शर्मा ने बताया कि बूंदी कलेक्टर आनंदी के समय भी लगभग 30 कलाकारों की ओर से आर्ट वर्कशॉप आयोजित की थी, तब भी संस्थान ने ऐतिहासिक धरोहर के संरक्षण पर जोर दिया था।इन्होंने किया चित्रांकनबूंदी ब्रश के सचिव विजयसिंह सोलंकी, कोषाध्यक्ष हेमराज मालव, नीतू गोस्वामी, रीना जांगिड़, प्रियांश सोनी, हर्षा गौड़, नेहा पटवा, शिवानी सुवालका, किरण शर्मा, शिप्रा सोनी ने चित्रकारों द्वारा जलरंग आर्ट वर्कशॉप में चित्रांकन किया गया।

खबरें और भी हैं...