सलाह / हमारा जिला टिड्डी प्रभावित घोषित, अब भी आने का खतरा

Our district locust declared affected, still in danger of coming
X
Our district locust declared affected, still in danger of coming

  • जनवरी तक के लिए अधिसूचना जारी, खेत में कचरे की ढेरियां बनाकर रखें, टिड्‌डी आए तो जलाकर धुआं करें

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:22 AM IST

बूंदी. बूंदी को टिड्डी आक्रमण के खतरे से प्रभावित जिला घोषित किया गया है। कलेक्टर अंतरसिंह नेहरा ने इस पर अधिसूचना जारी की है। इसमें उल्लेख है कि कृषि विभाग से प्राप्त सूचनाओं-फीडबैक के आधार पर राजस्थान एग्रीकल्चर पेस्ट एंड डिजीज एक्ट-1951 के तहत टिड्डी आक्रमण के खतरे वाला जिला घोषित किया गया है। इस एक्ट के दायरे में टिड्डी रोकथाम-नियंत्रण के लिए उपाय किए जाएंगे। अधिसूचना 31 जनवरी 021 तक प्रभावी रहेगी। 
 कृषि उपनिदेशक (विस्तार) रमेशचंद जैन ने बताया कि कुछ दिनों से करीबी जिलों से टिड्डी दल आ रहा है। आगे भी टिड्डी दल आने की आशंका है। किसान अपने खेत में थोड़ी-थोड़ी दूरी पर छोटी-छोटी कचरे की ढेरियां बनाकर रखें, ताकि टिड्डी आने पर ढेरियों को जलाकर धुंआ किया जा सके। किसान अपने पास कुछ मात्रा में कीटनाशक जैसे फेनवलरेट 0.4 प्रतिशत डीपी और क्विनालफॉस 1.5 प्रतिशत डीपी रखें, जिसका टिड्डी आने पर खेत में फसल पर भुरकाव करें। 
ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर और पानी के टैंकर तैयार रखें: किसान गांव में सभी ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर और पानी का टैंकर इस प्रकार से तैयार रखें कि टिड्डी दल आने पर तत्काल काम लिया जा सके। टिड्डी दल आते ही तत्काल प्रशासन-कृषि विभाग को सूचना दें। जहां भी रात को टिड्डी दल का पड़ाव होता है, उसकी सूचना स्थानीय प्रशासन-कृषि विभाग को दें। टिड्डी दल नियंत्रण के लिए कृषि विभाग द्वारा कीटनाशक शत-प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना