पैंथर की दहशत / पैंथर ने गाय पर हमला किया, ग्रामीणाें ने बचाया

X

  • अब तक 12 आवारा मवेशियों-बछड़ों-बकरियों का शिकार कर चुका है पैंथर

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:15 AM IST

बसोली. सथूर के आसपास वनक्षेत्र, जड़ का नयागांव, तालाबगांव, नठावा, जागा का झोपड़ा, सथूर में चंद्रभागा नदी के डैम क्षेत्र में सप्ताहभर से लगातार पैंथर की लोकेशन मिल रही है। अब तक 12 आवारा मवेशियों-बछड़ों-बकरियों का शिकार कर चुका है। किसानाें को दिन में भी खेतों में जाने से डर लगने लगा है। शुक्रवार दाेपहर 12 बजे भीलों का झोपड़ा के पास चंद्रभागा नदी के डैम पर पैंथर ने झाड़ियों से निकलकर गाय पर हमला कर दिया। गाय की आवाज सुनकर क्षेत्रवासी दौड़े तो पैंथर ने गाय को पकड़कर गले, पैरों और पीछे से घाव कर रखा था। लोगों ने पैंथर को भगाया, लेकिन वह बार-बार लौट रहा था। ग्रामीण गाय को बस्ती में ले आए, जहां पर वनकर्मियों को सूचना दी। सथूर नाकाप्रभारी महावीरप्रसाद रैगर, केटल गार्ड रामकुमार मीणा अाए। उपचार के लिए पशु चिकित्सा प्रभारी बड़ानयागांव को सूचित किया, लेकिन कोई नहीं अाया। गाय के शरीर में जहर फैल गया। वह अधमरी हो गई। इससे पूर्व पैंथर ने हरिपुरा गांव में रात के समय रामचंद्र गुर्जर के बाड़े में भैंसों पर हमला कर दिया था। वन्यजीव द्वारा शिकार करने पर ग्रामीण अाक्राेशित हैं। वन चौकीप्रभारी महावीर रैगर ने बताया कि शिकार करने के बाद वे पहुंचे थे। ग्रामीणों ने गाय का उपचार करवाने की मांग की, लेकिन कोई चिकित्साकर्मी नहीं पहुंच पाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना