• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bundi
  • Satish Poonia Targeted Congress In Bundi, Said Law And Order Is Bad In Rajasthan, Thieves Took All The Four Tires Of The Police Station In Jaipur

बूंदी में सतीश पूनिया कांग्रेस पर साधा निशाना:बोले- राजस्थान में कानून व्यवस्था खराब, जयपुर में थानेदार की गाड़ी के चारों टायर ले गए चोर

बूंदीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सतीश पूनिया ने जन आक्रोश रैली से पहले सभा को संबोधित किया। उन्होंने कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर निशाना साधा। - Dainik Bhaskar
सतीश पूनिया ने जन आक्रोश रैली से पहले सभा को संबोधित किया। उन्होंने कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर निशाना साधा।

राजस्थान बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया बुधवार को बूंदी के दौरे पर रहे। पूनिया यहां जन आक्रोश रैली में शामिल हुए और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ कलेक्ट्रेट पर पहुंचे। उन्होंने 20 मिनट जमीन पर बैठकर धरना दिया और कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। इससे पहले पूनिया ने आजाद पार्क में विशाल सभा को संबोधित किया। जनसभा में उन्होंने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राजस्थान में अवैध बजरी खनन जोरों पर है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की क्या बात करें। हाल ही में जयपुर में एक थानेदार की गाड़ी के चारों टायर चोर चुराकर ले गए।

सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में दलितों और महिलाओं पर अत्याचार होते हैं, तो राहुल और प्रियंका गांधी चुप्पी साध लेते हैं। लेकिन यदि उत्तर प्रदेश में कुछ हो जाता है तो भाई-बहन नौटंकी करते हुए यूपी पहुंच जाते हैं। राजस्थान उन्हें नजर क्यों नहीं आता। कांग्रेस ने राजस्थान में सरकार बनने किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था, लेकिन एक भी किसान का कर्ज माफ नहीं हुआ है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए जनता 2023 में कांग्रेस को सबक सिखाते हुए सत्ता से उखाड़ फेंकेगी।

सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस राज में लूट और लूटने का इतिहास रहा है, इन्होंने 55 सालों में यही काम है। इन 55 सालों में विकास कहां से कहां पहुंच जाता, लेकिन इन्होंने देश को पीछे ले जाने का काम किया। सतीश पूनिया ने कहा कि केंद्र में 2014 में जब से मोदी सरकार आई तो देश में विकास की गंगा बही है और देश उनके नेतृत्व में मजबूती से आगे बढ़ रहा है।

धक्का-मुक्की में एक महिला कार्यकर्ता फंसी
कलेक्ट्रेट परिसर में भारी पुलिस जाब्ते के साथ भारी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता प्रदर्शन करने के लिए पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उनको कलेक्ट्रेट में जाने से रोक दिया। इस दौरान वहां एक महिला कार्यकर्ता धक्का-मुक्की के बीच फंस गई और बचाने के लिए गुहार लगाने लगी। करीब 5 मिनट बाद वहां मौजूद कुछ कार्यकर्ताओं ने उसे जैसे-तैसे कर बाहर निकाला।