174 पॉजिटिव::अस्पताल में रेमडेसिविर इंजेक्शन खत्म गंभीर रोगियों को 5 दिन की जरूरत बताई

बूंदी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डाॅक्टराें ने 10 राेगियाें काे पर्ची पर लिख दिया इंजेक्शन लगाअाे

जिला अस्पताल में रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक खत्म हो गया है। कोरोना के 40 रोगियों को यह इंजेक्शन लगने थे, लेकिन एक को भी नहीं लग पाया, जबकि कोरोना के गंभीर रोगी को 6 इंजेक्शन लगाए जाते हैं, जिनमें पहले दिन एक साथ दो इंजेक्शन लगते हैं। उसके 24 घंटे बाद लगातार 4 दिन तक लगाया जाता है। इंजेक्शन को लेकर अस्पताल प्रशासन सटीक जवाब नहीं दे पा रहा है। भास्कर ने बुधवार के अंक में भी स्पष्ट कर दिया था कि अस्पताल में रेमडेसिविर का टोटा बना हुआ है। यदि बुधवार को कमी आएगी और सप्लाई नहीं हुई तो आसपास के शहरों से मंगवाने पड़ेंगे, लेकिन अस्पताल प्रशासन जयपुर से कोटा आने वाली सप्लाई का दिनभर इंतजार करता रहा, लेकिन इंजेक्शन की सप्लाई नहीं हुई।

जिले में बुधवार को 174 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसके साथ ही 1936 एक्टिव केस सामने आ चुके हैं। बुधवार को 32 पॉजिटिव से निगेटिव हो चुके है। इसके साथ ही 3431 पॉजिटिव से रिकवर हो चुके हैं। अस्पताल प्रशासन की ओर से 2 दिन से 300 इंजेक्शन की डिमांड की जा रही है, लेकिन सप्लाई नहीं हो रही है। मंगलवार को मिले 30 इंजेक्शन रात को ही खत्म हो गए। भास्कर ने अलग-अलग वार्डो में पता लगाया तो 44 के रोगियों के 70 डोज लगनी थी। मेडिकल वार्ड में 14, सर्जिकल में 15 व कोरोना वार्ड में 15 रोगियों को डोज लगाई जानी थी।डॉक्टरों ने राउंड के दौरान 10 रोगियों को तो पहली डोज के लिए लिखा था, जबकि 34 जनों को इंजेक्शन की बाकी डोज लगनी थी। रोगियों के परिजनों के सामने अजीब से हालात बन गए वे स्टाफ से इंजेक्शन को लेकर तकाजा करते रहे।

ऑक्सीजन की भी कमी, खाली सिलेंडर चित्ताैड़ भेजे

अस्पताल में ऑक्सीजन की खपत बढ़ गई है। 24 घंटे में 105 सिलेंडर काम आ रहे हैं। यानी एक घंटे में साढ़े चार सिलेंडर खर्च हो रहे हैं। अस्पताल प्रशासन के पास रात 8 बजे तक 57 ऑक्सीजन सिलेंडर बचे थे। 130 खाली सिलेंडर भरने के लिए चित्तौड़ भेजे हैं, जिनके सुबह तक आने की उम्मीद है। कोविड वार्ड में 68 रोगी भर्ती हैं, जिनमें से 35 जने ऑक्सीजन पर चल रहे हैं। आइसोलेशन वार्ड में 72 रोगी भर्ती हैं, जिनमें से 55 जने ऑक्सीजन पर हैं यानि 140 में से 90 रोगी ऑक्सीजन पर चल रहे हैं।

9 जनाें ने तोड़ा दम, तालेड़ा में दो दिन में 4 की गई जान बूंदी/नैनवां. जिला अस्पताल में बीते 24 घंटे में 9 जनों की मौत हो गई, इनमें से 2 की कोरोना से जान गई, जबकि 7 जनों ने आइसोलेशन में दम तोड़ा।कोरोना से मरने वाले दोनों जने पिछले 6 दिन से अस्पताल में भर्ती थे। सात दिन में अाइसाेलेशन व कोरोना से 53 जनों की सांसें थम चुकी है। जिनमें से 12 जने कोरोना व 41 रोगियों ने आइसोलेशन में दम तोड़ा। तालेड़ा में दो दिन में 4 की जान जा चुकी है। जिले में अब तक कोरोना से 43 जनों की जान जा चुकी है। दूसरी अाेर, नैनवां शहर निवासी 65 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से जिला अस्पताल में मौत हो गई।

इंजेक्शन की रोज सप्लाई होती है। बूंदी से कर्मचारी भेजकर रेमडेसिविर मंगवाया जाता है। पिछले कुछ दिनों से सप्लाई में कमी आ रही है। सप्लाई बढाने के लिए अधिकारियों को लिखा जा रहा है। जयपुर से कोटा सप्लाई नहीं आने के चलते बुधवार को दिक्कत आई है। ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था के लिए खाली सिलेंडर चित्तौड़ भेजे गए हैं।-डॉ. प्रभाकर विजय, पीएमओ

खबरें और भी हैं...