पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Kota
  • Bundi
  • Shadow Of Corona On The Great Moon Of Karthik Purnima; Devotees Could Not Reach The Banks Of The Charmanavati River Strictly Due To Administration

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

322 साल में ऐसा पहली बार:कार्तिक पूर्णिमा के महास्नान पर कोरोना का साया; प्रशासन की सख्ती से चर्मण्यवती नदी के तट तक नहीं पहुंच पाए श्रद्धालु

बूंदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बैरिकेड्स लगाकर राेकी श्रद्धालुअाें की अावाजाही, भगवान केशव के दर्शन भी नहीं हो सके

कार्तिक पूर्णिमा महोत्सव पर कोरोना की वजह से 322 साल में पहली बार चर्मण्यवती (चंबल) नदी में कार्तिक महास्नान और केशवराय भगवान के दर्शन पर प्रशासनिक पाबंदी-सख्ती हावी रही। पवित्र स्नान घाट व मंदिर परिसर में महोत्सव पर सन्नाटा छाया रहा। चंबल में नावें बंद रही। आस्था के चलते कई श्रद्धालु धार्मिकनगरी में महास्नान के लिए वाहनों से पहुंचे, लेकिन प्रशासन ने उन्हें लौटा दिया। जिससे काफी निराश दिखे। कई श्रद्धालुओं ने तो दो किमी दूर राजराजेश्वर मंदिर के पास स्नानघाट पर जाकर पवित्र स्नान-दीपदान किया।पूर्णिमा महास्नान पर धार्मिक पूरबमुखी बह रही गंगा समान पवित्र चर्मण्यवती नदी में देशभर से डेढ़ से दो लाख स्नानार्थी स्नान के लिए अाते थे, लेकिन कोरोना संक्रमण को लेकर पाबंदी से पूरे कार्तिक माह का स्नान, व्रत-उपवास करने वाले श्रद्धालु पूर्णिमा महास्नान की मनोकामना पूर्ण नहीं कर पाए। श्रद्धालुओं ने महास्नान की परंपरा घरों पर ही निभाई। प्रशासन ने मंदिर व नदी की अाेर जाने वाले सभी मार्गो पर बैरिकेड्स लगाकर पुलिस जाब्ता तैनात कर रखा था। कोटा-रंगपुर की ओर से श्रद्धालुओं के आगमन को देखते हुए नावों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। नदी पार रंगपुर में पुलिस जाब्ता तैनात रहा।

मंदिर के पट खुले, पर बंद रहे दर्शनरियासतकाल से चली आ रही परंपरा अनुसार वर्ष में चार दिन मंदिर के पट्ट दिनभर खुले रहते हैं। मंदिर मुखिया शेषनारायण शर्मा ने बताया कि अक्षय तृतीया, अक्षय नवमीं, कार्तिक पूर्णिमा व पड़वा को मंदिर के पट्ट दिनभर खुले रखे जाते हैं। कार्तिक पूर्णिमा को पट्ट तो दिनभर खुले रहे, लेकिन पाबंदी के चलते श्रद्धालु दर्शन नहीं कर सके। विष्णु अवतार भगवान श्रीकेशव को रत्नजड़ित शृंगार धराया गया। 22 वर्ष में आया पुजारी सेवा में कार्तिक मेलादेवस्थान विभाग के अधीन केशवराय मंदिर की सेवा में लगे पुजारी परिवार को कार्तिक मेले का वर्षों से इंतजार रहता है। इस बार कार्तिक मेले की मंदिर सेवा लेसरदा गांव के क्षेत्रवासी रमेशचंद्र शर्मा के परिवार को 22 वर्ष बाद मिल पाई। लॉकडाउन के बाद सरकार के मंदिर खोलने से परिवार उत्साहित था, लेकिन ऐनवक्त पर प्रशासन के महास्नान व दर्शन बंद करने से पुजारी परिवार को निराशा रही।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser