पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बूंदी को मिलीं सांसें:ऑक्सीजन की कमी से हांफ रहे अस्पताल को हाई डोज मिली, 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर मिले

बूंदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ऑक्सीजन की कमी से हाफ रहे जिला अस्पताल के लिए शुक्रवार को राहत भरी खबर आई। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से 28 मेट्रिक टन तरल ऑक्सीजन का टैंकर कोटा पहुंच गया। शुक्रवार को 40 मेट्रिक टन ऑक्सीजन कोटा पहुंची, यानी 68 मेट्रिक टन ऑक्सीजन कोटा संभाग में है। इसमें से बूंदी को ऑक्सीजन के 375 सिलेंडर मिलेंगे।

जिला अस्पताल को प्रतिदिन 125-125 ऑक्सीजन सिलेंडर मिलेंगे। इसके अलावा शुक्रवार शाम आरएमएससीएल से बूंदी को 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर, पीपीई किट, मास्क व वीटीएम दिलवाए गए हैं। सीएमएचओ डॉ. महेंद्र त्रिपाठी ने हाथोंहाथ 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर जिला अस्पताल के लिए ईशु कर दिए।

पिछले दिनों लोकसभा अध्यक्ष बिरला के प्रयास से कोटा मेंबनाई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक से 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर दिए गए थे। इससे पहले 8 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर जिला अस्पताल में लाए जा चुके थे। इस तरह से अब जिला अस्पताल में 28 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर हैं, जिनसे रोगियों को ऑक्सीजन दी जा रही है।

गौरतलब है कि बुधवार 5 मई के अंक में भास्कर ने अस्पताल की ग्राउंड रिपोर्ट में बताया था कि ऑक्सीजन की कमी... फूल रही है अस्पताल की सांसें, खाली हो रहे हैं 170 सिलेंडर रोज, 300 का स्टॉक हमेशा रहना चाहिए.... खबर में बताया था कि 75 प्रतिशत रोगी इस समय गंभीर स्थिति में आ रहे हैं। अधिकांश को ऑक्सीजन की आवश्यकता है।

जिले के सबसे बड़े अस्पताल में मरीजों के परिजनों को हाथ जोड़ने पड़ रहे हैं। भर्ती होने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। अस्पताल प्रशासन के पास ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक नहीं होने से रोगियों को भर्ती करने में मनाही कर रहे थे। एक सिलेंडर से दो जनों को सप्लाई दे रहे हैं।

खबरें और भी हैं...