अब ज्यादा सावधानी जरूरी:तीसरी लहर; 5 माह बाद जिले में मिले 6 कोरोना पॉजिटिव इनमें 5 डबल वैक्सीनेटेड, एक किशोर बिना टीके का

बूंदी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मास्क और दो गज की दूरी रखने में लापरवाही पड़ सकती है भारी, वैक्सीन जरूर लगवाएं

कोरोना ने छह माह से सुरक्षित जिले में दस्तक दे दी। गुरुवार को एक ही दिन में 6 पॉजिटिव केस मिले है। इनमें 4 बूंदी शहर के कागदी देवरा, जवाहर नगर, लाइन पुलिस व गुरुनानक कॉलोनी के हैं और केशवरायपाटन के दंपती पॉजिटिव आए हैं। रिपोर्ट आने के साथ ही चिकित्सा विभाग में हलचल तेज हाे गई। पॉजिटिव रोगियों के घरों में दवाओं के किट दिलाने के साथ ही उनकी केस हिस्ट्री ली गई है। उनके काॅन्टेक्ट में आने वालों को पता कर आसपास रहने वालों के भी सैंपल करवाए गए है। राहत की बात यह है कि इन सबके सामान्य लक्षण है, यानी गंभीर कोई भी नहीं है। एहतियात के तौर पर इन सभी को घरों से बाहर नहीं निकलने के लिए पाबंद किया है। गुरुवार को जो 6 पॉजिटिव केस आए हैं, उनमें 5 पॉजिटिव तो डबल वैक्सीनेटेड है। एक छात्र है, जो नीमच में 12वीं कक्षा में पढ़ता है। छुटि्टयां लगने से वह कुछ दिनों पहले बूंदी आया था।

इन सबका उपचार घरों में ही चल रहा है। केशवरायपाटन में आए दंपती में पत्नी को बुखार की शिकायत होने पर मंगलवार को केशवरायपाटन अस्पताल में दिखाया था। यहां पति-पत्नी की सैंपलिंग हुई, जिसकी रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई।विदित रहे, काेराेना की दूसरी लहर की समाप्ति के बाद मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर आमजन ने बेपरवाही बरतनी शुरू कर दी। मास्क को लेकर प्रशासन व चिकित्सा विभाग आमजन को लगातार जागरूक कर रहा है, लेकिन इसके बावजूद लोग मास्क काे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। प्रशासन व पुलिस ने संयुक्त रूप से आमजन को जागरूक करने के लिए रैली निकाली। आमजन को मास्क भी खूब बांटे गए।

राेज 400 से अधिक की हो रही सैंपलिंग: कोरोना संक्रमण की प्रदेश में रफ्तार बढ़ने के साथ ही बूंदी जिले में मेडिकल टीमाें के जरिए सैंपलिंग लेने की स्पीड बढ़ा दी गई थी। यहां प्रतिदिन 400 से अधिक सैंपलों की जांच की जा रही थी।^गुरुवार को 6 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। सबका घरों में ही इलाज चल रहा है। इनमें कोई भी गंभीर नहीं है। पांच जने तो डबल वैक्सीनेटेड है। इन्हें दवा का किट दे दिया गया है।-डॉ. महेंद्र त्रिपाठी, सीएमएचओ ^मास्क को लेकर लापरवाही कतई नहीं बरतें। भीड़ का हिस्सा नहीं बनें। गाइडलाइन की पूरी तरह से पालना की जाए। जिन्होेंने वैक्सीन नहीं लगवाई है, वे वैक्सीन लगवाएं, ताकि कोरोना संक्रमण से बचाव हो।-रेणु जयपाल, जिला कलेक्टर

खबरें और भी हैं...