3 दिन में 2 वारदात अंजाम:दो शातिर जेबतराश गिरफ्तार; जेब काटने के तुरंत बाद बदल लेते थे कपड़े, ताकि कोई पहचान न सके

बूंदीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बदमाश कैमरे में कैद। - Dainik Bhaskar
बदमाश कैमरे में कैद।
  • बूंदी की धानमंडी धर्मशाला में ले रखा था कमरा, नशे के शौक ने बनाया जेबतराश

बुजुर्ग किसान की जेब से 20 हजार रुपए पार करने वाले दो शातिर बदमाशों को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में सामने आया कि नैनवां निवासी दोनों बदमाशों ने प्रदेश के कई जिलों में वारदात अंजाम दी है। इनमें से एक जेबतराश ऐसा है, जो अब तक 10 लाख रुपए अधिक की राशि लोगों की जेब से पार कर चुका है। इनके शातिराना अंदाज ने पुलिसकर्मियों को भी हैरत में डाल दिया। ये लोग बचने के लिए वारदात को अंजाम देने के तुरंत बाद कपड़े बदल लेते और मुंह पर मास्क लगाकर पब्लिक में शामिल हो जाते, जिससे इन्हें कोई पहचान नहीं पाता।

जेबतराशी को अंजाम देने के लिए दोनों ने बाकायदा खोजागेट रोड स्थित धानमंडी धर्मशाला में कमरा भी ले रखा था।सोमवार दोपहर को मायजा निवासी किसान गोपाल मीणा की जेब से कोटा रोड पर 20 हजार रुपए निकाल लिए गए थे। पूरी वारदात आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इस आधार पर पुलिस ने नैनवां देई पोल निवासी राजू पुत्र लादू गुर्जर व साजिद हुसैन पुत्र फरियाद अली को गिरफ्तार किया। शातिर बदमाशों को पकड़ने वाली टीम में हैडकांस्टेबल महेंद्रकुमार, कांस्टेबल रामराज मीणा, नेतराम, मनोज ताखर, मुरारीलाल शामिल थे।

सीसीटीवी में कैद किसान की जेब से 20 हजार पार, सक्रिय हो गई थी पुलिस

किसान की जेब से 20 हजार रुपए पार करने की घटना के बाद ही कोतवाली कोतवाली थाना प्रभारी सहदेव मीणा सक्रिय हो गए। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अलग-अलग टीमों ने शहर के नैनवां रोड व देवपुरा, बालचंदपाड़ा, लंकागेट धानमंडी में तलाशी शुरू की तो दो संदिग्‍ध चोरी की वारदात के फिराक में मिले, जो पुलिस को देखते ही भागने लगे। टीम ने उन्हें धानमंडी से डिटेन किया। कोतवाली में लाकर पूछताछ की तो वारदात कबूल ली।11 दिसंबर से ले रखा था धर्मशाला में कमरापूछताछ में सामने आया कि दोनों बदमाशों ने धानमंडी धर्मशाला में 11 दिसंबर से कमरा ले रखा था। साजिद की आईडी से उन्होेंने कमरा ले रखा था। ये कमजोर, बुजुर्ग और ग्रामीण को तलाश करते, फिर उसे अपना निशाना बनाते थे। एक जना दूर खड़ा हो जाता और दूसरा जना धक्का देकर रुपए पार कर लेता।

पुलिस ने डेमो कराया तो शातिरगिरी देख पसीने छूटे

कोतवाली में पुलिसकर्मी ने जेब तराशने की शातिरगिरी को परखने के लिए डेमो करवाया। सीआई सहदेव मीणा ने कांस्टेबल नेतराम व एक अन्य कांस्टेबल के बीच राजू गुर्जर को खड़ा कर दिया और उससे कहा कि वह पर्स गायब करके बताए। राजू ने कांस्टेबल नेतराम को हल्का धक्का दिया। सबकुछ सामान्य लगा, लेकिन जब राजू ने नेतराम का पर्स दिखाया तो पुलिसकर्मियों के पसीने छूट गए।

खबरें और भी हैं...