पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आकाशीय बिजली से महिला बेसुध:देर शाम आकाशीय बिजली से महिला बेसुध, घरेलू सामान जले, मकानों में भी आई दरारें

बूंदी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बूंदी. बिजली कड़कने से घर के अंदर रखी पतंगें जल गई। - Dainik Bhaskar
बूंदी. बिजली कड़कने से घर के अंदर रखी पतंगें जल गई।
  • बारिश से ज्यादा बिजली कड़की छत की पटि्टयों का प्लास्तर उखड़ कर नीचे आ गिरा

दिनभर की उमस के बाद बुधवार शाम मेघ गर्जना के साथ हुई बरसात के दौरान बिजली गिरने से मकानों को नुकसान हुआ। घरों के सामान जल गए। बरसात चलने तक बिजली कड़कड़ाने की आवाज से लोगों अपने घरों में सहमे बैठे रहे। सुबह से उमसभरा माहौल बना रहा। शाम को बादल छाए और गर्जना शुरू हुई। जैसे ही बरसात शुरू हुई तो बिजली कड़कड़ाने लगी। बिजली गिरने के धमाके की आवाज सुनी गई। बालचंदपाड़ा में मीना सैनी तो धमाके की आवाज सुनकर ही बेहोश हो गई। सोहनी बाई के पैरों में करंट दौड़ने से सूजन आ गई। बालचंदपाड़ा पुराने शहर में बिजली कड़कड़ाने से कई घरों को नुकसान हुआ है।

बालचंदपाड़ा निवासी विद्युत निगम के कर्मचारी पीयूष पाचक ने बताया कि शाम 5.45 बजे बेटी लेपटॉप पर खिड़की के पास बैठकर काम कर रही थी। अचानक बिजली कड़कड़ाई। बेटी को बिजली की तपन महसूस हुई और ऐसा लगा जैसे किसी ने चेहरे पर मारा हो। घर की सभी लाइटें बंद हो गई। पटि्टयों का प्लास्टर उखड़ गया। छत की दीवार टूट गई और दीवारें काली पड़ गई। बिजली उनके व पूरबचंद सैनी के मकान से टकराती हुई गली में गिरी। पीयूष के घर की बोरिंग मशीन, तीन पंखें, कूलर, लाइटों के बोर्ड जल गए। घर के सामने की आटा चक्की की मशीन खराब हो गई। पूरबचंद सैनी के घर पर तीन टीवी, लाइट फिटिंग बिखर गई। मकान में दरारें आ गई। बहू बिजली कड़कड़ाने की अावाज से बेहोश हो गई। पत्नी के पैरों में करंट दौड़ गया। बल्लभ सैनी के घर की एलईडी, कमल के पंखे, टीवी, कमलेश के टीवी जल गया।पानी की टंकी फट गईगुरुनानक कॉलोनी के दिनेश मार्ग में पूर्व फौजी राधाकिशन के छत पर बिजली गिरने से पानी की टंकी फट गई।

खबरें और भी हैं...