पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसा:लोहे की प्लेट गिरने से मजदूर की मौत, मुआवजे के लिए मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठे परिजन

बूंदी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्योपुरिया की बावड़ी कृषि विज्ञान केंद्र के पास की घटना, हरिपुरा निवासी मृतक

श्योपुरिया की बावड़ी कृषि विज्ञान केंद्र के पास बूंदी-खटकड़ सड़क निर्माण के लिए स्थापित प्लांट में मशीन खोलते समय लोहे की एक प्लेट मजदूर हरिपुरा निवासी पप्पू मेघवाल (30) पर आ गिरी, जिससे उसकी मौत हो गई। उसे घायल हालत में साथी मजदूर जिला अस्पताल ले गए, यहां प्राथमिक उपचार करके कोटा भेज दिया। कोटा में उसे प्राइवेट अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। हालांकि कोटा ले जाते वक्त रास्ते में ही मजदूर की सांसें थम चुकी थी। इस पर शव वापस बूंदी अस्पताल लाकर मोर्चरी में रखवाया गया।  जानकारी के अनुसार पप्पू मेघवाल सालभर से इसी प्लांट पर काम कर रहा था। सूचना मिलने पर अस्पताल पहुंचे परिजनाें का कहना था कि वह मजदूर था, जबकि उससे मशीनें खुलवाने का काम करा रहे थे, इस काम के लिए वह ट्रेंड ही नहीं था। ठेकेदार की लापरवाही से उसकी मौत हुई। परिजन जिला अस्पताल की मोर्चरी के बाहर धरना देकर बैठ गए। सूचना के बाद सदर थाना पुलिस अाई, पर ठेकेदार या कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। मृतक के भाई महावीर ने बताया कि चार बार ठेकेदार को सूचना दी, पर वह नहीं आया। यह सड़क पीडब्ल्यूडी के अधीन है। पीडब्लूडी अधिकारियों की भी जिम्मेदारी है। जब तक 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता नहीं दी जाती, शव नहीं लेंगे। सदर थानाप्रभारी का कहना था कि परिजन मुआवजे की मांग कर रहे हैं। पुलिस इसके लिए अधिकृत नहीं है। आर्थिक सहायता के लिए जिला प्रशासन से बात करें। पुलिस तो मुकदमा दर्ज कर सकती है।  सदर थानाप्रभारी की सूचना पर डीएसपी मनोज शर्मा ने मोर्चरी के बाहर धरना दिए बैठे परिजनों-समाजजनाें से समझाइश की। परिजनों ने बताया कि मृतक के तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। परिवार में वही काम करनेवाला था परिवार को 20 लाख की सहायता मिले। डीएसपी का कहना था कि मृतक परिवार के साथ सहानुभूति है, पुलिस में रिपोर्ट दीजिए, मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा। मुकदमा दर्ज होने पर क्लेम राशि मिलेगी, सरकार की ओर से दुर्घटना मृत्यु पर दी जानेवाली सहायता के प्रयास भी होंगे। डीएसपी ने बताया कि ठेकेदार के इंजीनियरों से बात हुई है, जिन्होंने भी तीन-चार लाख रुपए की सहायता देने की बात कही है। उनका कहना था कि वह हमारा कर्मचारी था, उसका परिवार हमारा है, जो भी मदद होगी, वह की जाएगी। हालांकि परिजन इस पर भी नहीं माने। बाद में डीएसपी परिजनों को वार्ता के लिए अपने ऑफिस लेकर आए। तब तक परिजनों-ग्रामीणों ने शव नहीं लिया। ठेकेदार 5 लाख देने को तैयार, परिजन 20 लाख की मांग पर अड़े रहे  बूंदी-खटकड़ रोड निर्माण के लिए स्थापित गिट्‌टी क्रेशर में काम करते हुए गिट्‌टी प्लांट गिरने से मरे श्रमिक के परिवार को सहायता राशि तय करने को लेकर परिजनों, ग्रामीणों की देर रात डीएसपी, ठेकेदार से वार्ता के बावजूद सहमति नहीं बनी। जानकारी के मुताबिक ठेकेदार पांच लाख रुपए देने को तैयार हो गया, पर ग्रामीण और परिजन 20 लाख रुपए की अपनी मांग पर अड़े रहे। शव मोर्चरी में रखा रहा। ग्रामीणों ने बुधवार को शव के साथ प्रदर्शन की चेतावनी दी। इधर, वार्ता में सहमति नहीं बनने पर पुलिस ने भी प्रयास छोड़ दिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें