पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्देश:अलविदा जुमा आज घरों पर ही पढ़ेंगे नमाज

छबड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रहमतों व बरकतों के माह रमजान के अंतिम हैं। इसी के चलते मुस्लिम समाज के लोग ज्यादा से ज्यादा इबादत कर रहे हैं। शुक्रवार को रमजान माह का अलविदा जुमा है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते समाज के लोग घरों पर ही नमाज अदा कर दुआएं करेंगे। माहे रमजान के गुरुवार को 23 रोजे पूरे हो गए। मुस्लिम समाज के लोग इबादत करने में लगे हुए हैं। पिछले साल की तरह इस साल भी कोरोना महामारी के कारण मस्जिदों में मात्र पांच लोग नमाज़ अदा कर रहे हैं बाकी सभी लोग घरों पर नमाज़ अदा कर रहे हैं। दिन भर रोज़ा रखकर इबादत करने के बाद रात को भी जाग कर इबादत कर अमन, चैन, शांति, सौहार्द तथा कोरोना के खात्मे की दुआएं कर रहे हैं।

औकाफ कमेटी के सदर अतीक भारती ने समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि घरों पर नमाजों का एहतमाम करें, सरकारी गाइडलाइन का पालन करें, मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंस का पालन करें एवं शांति बनाए रखें। मदरसा जामिया तोहिद के मौलाना आरिफ नदवी ने भी समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि रमज़ान का महीना चल रहा है। इस महीने में ज़्यादा से ज़्यादा गरीब लोगों की मदद करें। पड़ौसियों की भी मदद की जाए चाहे वह किसी भी धर्म से ताल्लुक रखता हो।

खबरें और भी हैं...