बचाव कार्य:पार्वती के उफान में फंसे सुंडा गांव के 145 लोगों को हेलिकॉप्टर से निकाला

छबड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छबड़ा. सुंडा गांव में रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान प्रसूता को खाट पर लिटाकर लाते एनडीअारएफ के जवान। - Dainik Bhaskar
छबड़ा. सुंडा गांव में रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान प्रसूता को खाट पर लिटाकर लाते एनडीअारएफ के जवान।
  • रेस्क्यू टीम ने 250 लोगों को सुरक्षित निकालकर भुआखेड़ी स्कूल पहुंचाया

प्रदेश की सीमा से सटे मध्यप्रदेश के गुना जिले के फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के सुंडा गांव में पार्वती नदी में आए उफान के कारण करीब 250 ग्रामीण फंस गए। इन्हें शनिवार को राजस्थान व मध्यप्रदेश की एनडीआरएफ की टीम व एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू किया गया। ग्रामीणों को रेस्क्यू कर भुआखेड़ी स्कूल में पहुंचाया।

एक जच्चा-बच्चा को भी रेस्क्यू किया गया। कस्बे से सटी मध्यप्रदेश की सीमा में सुंडा गांव शुक्रवार को पार्वती नदी आए उफान से टापू बना था। गांव में करीब 250 लोगों के फंसे होने की सूचना थी। कस्बे का प्रशासनिक अमला तथा गुना जिले के एसपी व कलेक्टर भी मौके पर पहुंचे। शुक्रवार को रात हो जाने से शनिवार सुबह रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। एयरफोर्स व एनडीआरएफ के जवानों ने नावों व हेलिकॉप्टर से ग्रामीणों को सुरक्षित जगह पहुंचाया। ऑपरेशन को छबड़ा क्षेत्र के गोड़ियाचारन (कैलाशपुरी) गांव से किया गया।

एसडीएम ने प्रसूता व नवजात को अपने वाहन से पहुंचायासुंडा गांव निवासी कालीबाई ने कुछ दिनों पहले नवजात को जन्म दिया था। वह भी सुंडा गांव में ही फंसी हुई थी। शनिवार को किए रेस्क्यू में प्रसूता व बच्चे को भी लाया गया। इसके बाद एसडीएम मनीषा तिवारी ने दोनों को अपने वाहन से भुआखेड़ी स्कूल में बनाए गए आश्रय स्थल पहुंचाया।पूर्व मंत्री व राघौगढ़ विधायक भी पहुंचेरेस्क्यू ऑपरेशन के बाद मध्यप्रदेश के राघौगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक व पूर्व मंत्री जयवर्द्धन सिंह भी रेस्क्यू स्थल पहुंचे। उन्होंने रेस्क्यू कर लाए ग्रामीणों से मुलाकात की एवं प्रशासन एवं एनडीआरएफ टीम काे धन्यवाद दिया।

खबरें और भी हैं...