पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दुष्कर्मी को 10 साल की सजा:नाबालिग से ज्यादती और शादी के लिए विवश करने वाले को 10 साल की सजा

झालावाड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीड़िता के पिता ने एसपी को परिवाद देकर की थी शिकायत

पोस्को कोर्ट प्रथम ने नाबालिग से ज्यादती के एक साल पुराने मामले में अभियुक्त को 10 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई। साथ ही 20 हजार रुपए जुर्माना लगाया। इसके अलावा दो अन्य धाराओं में भी 5 व 3 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई। सभी सजाएं साथ-साथ चलेगी। जुर्माना नहीं चुकाने पर 1 वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। यह सजा पोक्सो कोर्ट के विशिष्ठ न्यायाधीश प्रेमप्रकाश गुप्ता ने सुनाई। विशिष्ठ लोक अभियोजक रामहेतार गुर्जर ने बताया कि पीड़िता के पिता ने 14 दिसंबर 2018 को परिवाद एसपी को पेश किया था। इसमें उसने बताया कि 12 दिसंबर को शाम 4 बजे उसकी पुत्री खेत से रखवाली कर घर लौट रही थी, तभी रूपारेल तीनधार निवासी मनीष खटीक उसे रोकर जबरन ऑटो में बिठाकर अपने साथ ले गया। पीड़िता के साथ उसकी छोटी बहन भी थी, जिसे वहीं छोड़कर धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बताई तो उसके माता-पिता को खत्म कर देगा। पीड़िता की बहन ने यह बात आकर अपने घर पर बताई। पीड़िता के पिता ने यह भी बताया कि इस घटना से पूर्व भी वह नाबालिग के साथ छेड़छाड़ कर चुका है। मंडावर पुलिस ने परिवाद पर केस दर्ज किया। बाद में पीड़िता को दस्तयाब किया गया और आरोपी को भी गिरफ्तार किया। इसके बाद कोर्ट में चालान पेश किया गया। पीड़िता ने कोर्ट में मजिस्ट्रेट को दिए बयान में बताया कि 12 दिसंबर 2018 से 9 जनवरी 2019 तक की अवधि में आरोपी युवक ने उसे कोटा व उसके बाद सातलखेड़ी में किराए के मकान में रखा और उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया और विवाह करने के लिए विवश किया। अभियोजन पक्ष की ओर से 26 गवाह और 28 दस्तावेज पेश किए। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद आरोपी मनीष खटीक को दोषी मानते हुए 10 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें